ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

01 दिसंबर, 2009

दूरसंचार कंपनियों को उपलब्ध कराना होगा अपना नेटवर्क

नई दिल्ली, दूरसंचार विभाग देश में मोबाइल फोन नंबर पोर्टेबिलिटी प्रणाली के लागू होने के बाद दूरसंचार सेवा कंपनियों के नेटवर्क को सुरक्षा एजेंसियों की विधिवत पकड़ और निगरानी (लिम) में रखना चाहता है।

नंबर पोर्टबिलिटी सुविधा अगले माह के अंत से शुरू हो रही है जिसके तहत ग्राक दूसरी कंपनी े सिम कार्ड पर अपना पुरान नंबर चालू रख सकते हैं।

विभागीय परिपत्र के अनुसार दूरसंचार विभाग सभी दूरसंचार कंपनियों को इस बारे में जल्दी ही दिशा-निर्देश जारी कर सकता है कि वे अपने नेटवर्क की पहुँच सुरक्षा एजेंसियों तक सुनिश्चित करें ताकि ग्राहकों को ‘लाफूल इंटरसेप्शन एंड मानिटरिंग’ (लिम) के दायरे में रखा जा सके।

दूरसंचार विभाग ‘मोबाइल क्लियंरिंग हाउस’ की प्रति नियमित तौर पर गृह मंत्रालय को उपलब्ध कराएगा ताकि एजेंसियाँ ग्राहकों के परिचालक बदलने की अद्यतन जानकारी प्राप्त कर सकें। मोबाइल क्लियरिंग हाउस एक ऐसा सर्वर है जहां सेवा प्रदाताओं को बदलने के बारे में पूरी जानकारी होगी।

इससे सुरक्षा एजेंसियों को किसी लक्षित नंबर पर नजर रखने में मदद मिलेगी। सुरक्षा एजेंसी जरूरत पड़ने पर परिचालक से काल से संबंधित विस्तृत जानकारी माँग सकते हैं।

भारत में नंबर पोर्टेबिलिटी 31 दिसंबर से महानगरों में लागू होगी।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.