ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

11 अप्रैल, 2013

बांग्लादेश में विपक्ष समर्थक अखबार का संपादक गिरफ्तार

बांग्लादेश में ब्लॉगरों के बाद अब सरकार ने विपक्ष समर्थक मीडिया पर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने बंगाली दैनिक 'अमर देश' के संपादक महमूदुर रहमान को गुरुवार को राजधानी के कारवां बाजार स्थित उनके दफ्तर से गिरफ्तार कर लिया।
रहमान पर दंगा भड़काने और धार्मिक वैमनस्य फैलाने के गंभीर आरोप लगाए गए हैं।
गिरफ्तारी से बचने के लिए रहमान [59] पिछले चार महीनों से दफ्तर में ही रह रहे थे। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उन्हें हिरासत में लेने वाले सादे कपड़े पहने थे। उन्हें खुफिया ब्रांच [डीबी] के मुख्यालय ले जाया गया, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है। गृह राज्य मंत्री शमसुल हक ने बताया कि रहमान ने मुस्लिम धर्म की भावनाओं से खिलवाड़ किया। कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए उन्हें गिरफ्तार करना जरूरी था। पुलिस प्रवक्ता ने भी कहा, हमें जांच में उनके खिलाफ सुबूत मिले थे। उन्हें हफ्तों पहले ही गिरफ्तार किया जाना था, लेकिन हमने पहले ठोस सुबूत जुटाने का निर्णय लिया।
बांग्लादेश के युवाओं ने 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान युद्ध अपराधों में शामिल दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए अभियान चला रखा है। राजनीतिक दलों से इतर ये युवा जनजागरण मंच के तहत अभियान चला रहे हैं। सत्तारूढ़ अवामी लीग के नेताओं ने अखबार पर दंगे भड़काने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। इसके चलते सरकार को विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी [बीएनपी] के दर्जनों नेताओं को सलाखों के पीछे भेजना पड़ा।
रहमान जनजागरण मंच से गुस्सा हैं। उन्होंने कहा है कि मंच ने उनकी छवि इस्लाम विरोधी बना दी। रहमान की गिरफ्तारी के बाद कई इस्लामी संगठनों ने उनके समर्थन में प्रदर्शन किया। इन संगठनों ने अमर देश के संपादक को इस्लाम का सच्चा सिपाही बताया। अमर देश के मालिक बीएनपी नेता मुसादिक अली फालू हैं।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.