ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

22 अक्तूबर, 2009

महाराष्ट्र, हरियाणा, अरुणाचल में कांग्रेस

तमापूर्वानुमानोखरउतरतहुकांग्रेतीराज्योमहाराष्ट्र, हरियाणअरुणाचप्रदेमेहुविधानसभचुनामेबेहतस्कोकियहैकांग्रेमहाराष्ट्र में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने जरहहै, जबकि अरुणाचल प्रदेश में उसने ‘क्लीन स्वीप’ किया है। हरियाणा में पार्टी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है और वह सबसे बड़े दल के रुप में उभरी है।
FILE
महाराष्ट्र में कांग्रेस अपने सहयोगी राकांपा के साथ मिलकर सरकार बनाने जा रही है। शाम साढ़े बजे तक मिली जानकारी के अनुसार यह कांग्रेस-राकांपा का गठजोड़ 288 सदस्यीय विधानसभा में 139 सीटे जीत चुका है। यहाँ पर कांग्रेस को 79 तथा राकांपा को 60 सीटे जीत चुका है। यही नहीं 5 सीटों पर यह गठजोड़ बढ़त बनाए हुए है।

पिछले चुनाव में 140 सीटें जीतने वाले इस गठजोड़ को इस बार और अधिक सीटें मिलने जा रही है। उसे अगली सरकार बनाने में कोई दिक्कत नहीं आएगी, क्योंकि गठजोड़ को बागी नेताओं और निर्दलीयों का समर्थन भी हासिल होगा।

राज ठाकरे की मनसे ने इस बार शिवसेना-भाजपा के वोट बैंक में सेंध लगा दी है और भगवा गठजोड़ केवल 86 सीटें मिली हैं, जबकि 4 सीटों पर यह गठबंधन आगे चल रहा है। 2004 के चुनाव में उसने 116 सीटें जीती थीं। शिवसेना ने अब तक 43 जीती और संयोग से भाजपा के हिस्से में भी 43 सीटें आई हैं।

PIB
हरियाणा के चुनाव परिणाम कांग्रेस के लिए चौंकाने वाले नहीं रहे। लोकसभा चुनाव में दस में से नौ सीटें जीतकर जोरदार प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव निर्धारित समय से सात महीने पहले कराने का निर्णय किया था।

हरियाणा में 90 सीटों के लिए हुए चुनाव के सभी परिणाम प्राप्त हो चुके हैं। कांग्रेस ने 40 सीटें जीती हैं। उसे सरकार बनाने के लिए बागियों और निर्दलीयों का समर्थन लेना पड़ेगा। ओमप्रकाश चोटाला की अगुआई वाली भारतीय राष्ट्रीय लोकदल ने 31 सीटों पर अपना कब्जा जमाया है।

हरियाणा जनहित कांग्रेस ने 6 सीटें जीती हैं। भारतीय जनता पार्टी हरियाणा में केवल 4 सीटें ही जीत पाई है। यहाँ पर निर्दलीय प्रत्याशी सात सीटों पर विजयी रहे हैं।

कांग्रेस 2005 के चुनाव में 67 सीटें जीती थीं और लोकसभा चुनाव में मिली जीत से उत्साहित पार्टी विधानसभा चुनाव में भी जबर्दस्त प्रदर्शन दोहराने के विश्वास से भरी थी।

अरुणाचल में कांग्रेस को 41 सीटें : अरुणाचल के परिणाम कांग्रेस के लिए खासे उत्साहवर्धक रहे। यहाँ पर उसे भारी बहुमत हासिल हुआ है। कांग्रेस ने यहाँ 60 सदस्यीय विधानसभा में कुल 41 सीटों पर अपना परचम लहराया है। देर शाम तक केवल 2 परिणाम आने शेष हैं। इनमें से कांग्रेस 1 पर आगे है। पिछले चुनाव में कांग्रेस ने 34 सीटें जीती थीं।

अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रीय कांग्रेस पाटी (राकंपा) और तृणमूल कांग्रेस 5-5 सीटों को जीतने में सफल रही है। निर्दलीय प्रत्याशी भी 5 सीटें जीतने में सफल रहे हैं। यहाँ की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को केवल 2 सीटें दी हैं। इस तरह कांग्रेस अरुणाचल प्रदेश में ‘क्लीन स्वीप’ करते हुए सरकार बनाने का बहुमत जुटा चुकी है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.