ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

21 अप्रैल, 2009

गंगापार के क्षेत्रों में वोट का ठेका कुख्यातों को

प्रशासनिक तैयारियों के बीच चंद प्रत्याशियों ने थोक के भाव वोट बटोरने की खास रणनीति में गंगापार के दो विधानसभा क्षेत्रों में वोटों का ठेका कुख्यातों को दे दिया है। गंगापार में अधिक से अधिक वोट हथियाने के लिये एक प्रत्याशी ने ऐसे सात कुख्यात अपराधियों को तैयार कर रखा है जिसकी तूती इलाके में बोला करती है। सूत्रों की माने तो इनमें एक ऐसा अंतरजिला अपराधी सरगना है जिसे पुलिस शांतिप्रिय मानकर चल रही है। शायद यही वजह है कि चुनाव आयोग के निर्देश पर बनाये गये दागियों की सूची में उक्त अपराधी का नाम ही दर्ज नहीं है। भागलपुर, गंगापार, अररिया, फारबिसगंज, पटना से लेकर नेपाल तक अपनी सक्रियता बनाये हुए उस सरगना का नाम हाल में सीमांचल के गोलछा हत्याकांड में सुर्खियों में आया था। सूत्रों की माने तो उसके इलाकाई रसूख का इस्तेमाल कर वोट हथियाने के लिये एक प्रत्याशी ने उसे लग्जरी वाहन और अन्य सुविधाएं मुहैया करा रखी है। इस अंतरजिला सरगना का इस्तेमाल पूर्व के चुनावों में भी हो चुका है। सूत्रों की माने तो लग्जरी वाहनों समेत अन्य सुविधा गंगापार में सक्रिय सात कुख्यातों को दिये जाने की चर्चा इलाकाई हलकों में है। नवगछिया अनुमंडल में सक्रिय एक कुख्यात जो गायकी में भी महारत हासिल कर रखी है, उसे एक प्रत्याशी ने मतदान के दौरान वैसे वोटरों को दहशतजदा कर बूथ तक नहीं पहुंचने का ठेका दे रखा है जो वोट उसे नहीं पड़ने हैं। थोक के भाव में वोट हथियाने का ठेका लिये ऐसे अपराधी सरगना अभी से एसी गाड़ी में घूमते हुए इलाके में अपनी दमदार मौजूदगी का एहसास लोगों को कराने लगे हैं। उनके साथ उनके डरावने चेहरे वाले गुर्गे भी दाये-बांये रहा करते हैं। इनकी उपस्थिति से अभी से इलाके में मूक संदेश तैरने लगा है। लोग समझने लगे हैं कि ये किन-किन प्रत्याशियों के लिये काम कर रहे हैं। लोग सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने और उसी के हिसाब से मतदान में भाग लेने की तैयारी कर रहे हैं।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.