ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

23 अप्रैल, 2009

ट्रेन के नीचे से आना-जाना करते हैं लोग

ओवर ब्रिज नहीं बनने से रंगरा, सधुआ, चापर, मदरौनी, सहित आधा दर्जन गांव के लोगों को कठनाई का सामना करना पड़ रहा है। रंगरा चौक से नेशनल हाइवे सटे होने के कारण आम लोग स्टेशन होकर आवागमन करते हैं। वहां रेलवे लाइन पर अक्सर मालगाड़ी लगी रहती है। लेागों को ओवरब्रिज के अभाव में मालगाड़ी के नीचे से आना-जाना पड़ता है। इस क्रम में यदा-कदा मालगाड़ी के अचानक खुलने से कई बार दुर्घटना में लोगों की जान चली गई है। स्थानीय बिनोद सिंह की दस वर्षीय पुत्री की मौत मालगाड़ी से दबने हो गई थी। दो वर्ष पूर्व मालगाड़ी के नीचे से पार करने के दौरान उसके अचानक खुलने से इंटर के एक छात्र की मौत हो गई थी। संजीत कुमार, मैसूर आलम, मनोज मंडल दिनेश साह सहित कई लोगों ने बताया कि इस संबंध में रेल विभाग के उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है लेकिन यहां ओवरब्रिज निर्माण नहीं कराया गया है। इस संबंध में जनप्रतिनिधि व राजनीतिक दलों के नेता भी उदासीन बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि इस बार यहां वोट मांगने आने वाले नेताओं से उनकी इस दिशा में बरती जा रही उपेक्षा के बारे में जवाब मांगा जा रहा है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.