ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

23 अप्रैल, 2009

गरीबों को मिलेगा हक : जेटली


भारतीय जनता पार्टी के महासचिव तथा पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि एनडीए सत्ता में आयी तो गरीबों को उसका वाजिब हक मिलेगा। उन्हें दो रुपये प्रतिकिलो की दर से चावल मिलेगा। किसानों का बैंक ऋण माफ किया जाएगा। श्री जेटली गुरूवार को नवगछिया के मदन अहल्या महिला महाविद्यालय में भाजपा प्रत्याशी शाहनवाज हुसैन के पक्ष में सभा में बोल रहे थे। उन्होंने लोगों से भाजपा प्रत्याशी को समर्थन देने तथा केन्द्र में सरकार गठित करने में अपना सहयोग देने की अपील की। उन्होंने कहा कि बिहार की एनडीए सरकार ने साढ़े तीन साल में अच्छा काम किया है। बिहार विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। उन्होंने कहा कि राजद, लोजपा और कांग्रेस के कई सजावार नेताओं को कोर्ट ने चुनाव लड़ने से रोका है। अब इनके परिवार के सदस्यों को जनता संसद जाने से रोकेगी। उन्होंने कहा कि छपरा और पाटलिपुत्र की जनता लालू प्रसाद को तथा हाजीपुर की जनता रामविलास पासवान को संसद जाने से रोकेगी। उन्होंने कहा कि यूपीए की सरकार में महंगाई बढ़ी है। उद्योग धंधे बंद हो रहे हैं। इसकी तुलना में बिहार विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। उंन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार देश की सुरक्षा को कमजोर कर रही है। श्री जेटली ने कहा कि भागलपुर से भाजपा प्रत्याशी को जिताइये। वे संसद में अगली पंक्ति में बैठकर बिहार और भागलपुर के विकास की रणनीति बनाएंगे। पिछले लालू सरकार के विषय में उन्होंने कहा कि उस समय अस्पताल में न तो दवाईयां मिलती थी, न ही स्कूलों में बच्चों को शिक्षा। आज स्थिति उलटी है। अस्पताल, स्कूल सभी चकाचक है। सभा को बिहार के सहकारिता मंत्री गिरिराज सिंह ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि लालू, पासवान और कांग्रेस तीनतसिया है। नीतीश-मोदी की सरकार में अपराधियों का बोलबाला समाप्त हो गया है। सभा को सांसद शाहनवाज हुसैन, विधायक गोपाल मंडल ने भी संबोधित किया। सभा के बीच में ही फिल्म कलाकार सुनील छैला बिहारी ने गीत सुनाकर दर्शकों का मनोरंजन किया। सभा की अध्यक्षता नवगछिया भाजपा जिला अध्यक्ष सुभाष साहू ने किया तथा मंच संचालन बिरेन्द्र सिंह ने किया।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.