ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

04 जुलाई, 2012

ईश्वरीय कण जैसे कण को खोजने का वैज्ञानिकों ने किया दावा

यूरोपीय परमाणु अनुसंधान संगठन या सीईआरएन के वैज्ञानिकों ने बुधवार को घोषणा की कि उन्होंने एक नया कण पाया है, जिसे वे ईश्वरीय कण (हिग्स बोसन) कह सकते हैं। यह कण, इस बात के लिए 45 वर्षो से की जा रही तलाश का विषय रहा है कि पदार्थ किस तरह से अपना पिंड हासिल करता है, और यह ईश्वरीय कण के साथ मेल खाता है।ब्रिटेन के नेतृत्व वाली अंतर्राष्ट्रीय परियोजना, लार्ज ह्रेडोन कोलाइडर (एलएचसी) से रिपोर्ट भेजने वाले वैज्ञानिकों ने इस खोज का दावा किया है। एलएचसी इस बात का पता लगाने में जुटा हुआ है कि जिस ब्रह्माण्ड में हम रहते हैं, वह एक बिग बैंग के साथ कैसे शुरू हुआ था।बीबीसी के अनुसार, ईश्वरीय कण के लिए एटीएलएएस और सीएमएस के प्रयोग सीईआरएन में गूंज रहे हैं, जिन्हें उनके आंकड़े के लिहाज से निश्चितता के एक स्तर पर माना जा सकता है। ये आंकड़े किसी खोज के मूल्यवान आंकड़े हैं।यह सुनिश्चित करने के लिए हालांकि अभी और अधिक काम करने की आवश्यकता है कि जो उन्होंने देखा, वह वाकई में कोई ईश्वर है।जेनेवा में स्थित एलएचसी केंद्र में घोषित परिणामों का तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत किया गया।खोजकर्ताओं के दल ने सीईआरएन सभाकक्ष में जैसे ही अपना प्रस्तुतीकरण समाप्त किया, पीटर हिग्स (जिनके नाम पर इस कण का नाम पड़ा है) ने अपनी आंख से निकल रहे खुशी के आंसू पोछ डाले।हिग्स ने बाद में कहा, "मैं इस उपलब्धि में शामिल हर किसी को अपनी बधाई देना चाहूंगा। यह वाकई में एक अतुलनीय उपलब्धि है, जो मेरे जीवनकाल में हासिल हुई है।"

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.