ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

23 जुलाई, 2012

101 साल के फौजा ने थामी ओलंपिक मशाल

दुनिया के सबसे बुजुर्ग मैराथन धावक फौजा सिंह शनिवार को ओलंपिक मशाल लेकर लंदन की सड़कों पर दौड़े।

ओलंपिक मशाल रिले में दर्शकों के भरपूर समर्थन के बीच सफेद पोशाक और सफेद पगड़ी पहने भारत के 101 वर्षीय फौजा ने जब मशाल थामी तो सिख समुदाय के सैकड़ों युवाओं ने उनकी तस्वीर वाली टी शर्ट पहनकर उनका हौसला बढ़ाया। इस दौरान सिखों ने रिले रूट पर 16 जगहों पर लंगर का भी आयोजन किया। फौजा के अलावा पूर्व ओलंपियनों ने मशाल रिले में शिरकत की। शनिवार को सात दिवसीय मशाल रिले का पहला दिन था। इस दिन कुल 143 लोगों ने इसमें हिस्सा लिया। रिले में सबसे युवा 12 साल की चेस्टर चैंबर रहीं।

1911 में पंजाब में जन्मे फौजा ने खुद को व्यस्त रखने के इरादे से 86 वर्ष की आयु में दौड़ना शुरू किया था। इसके बाद उन्होंने अपने नाम कई रिकॉर्ड दर्ज किए हैं। फौजा छह बार लंदन मैराथन, दो बार कनाडा मैराथन और एक बार न्यूयॉर्क मैराथन में दौड़ चुके हैं। वह आठ साल पहले एथेंस में भी ओलंपिक मशाल थाम चुके हैं। उनका इरादा 2016 ओलंपिक में एक बार फिर मशाल रिले में हिस्सा लेना का है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.