ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

22 जून, 2012

CCTV में दिखा माही का हाथ, कोई हलचल नहीं

मानेसर में 4 साल की मासूम माही को बोरवेल में गिरे 36 घंटे से ज्यादा का वक्त बीत चुका है। 68 फीट गहरे गड्ढे में वो मौत से लड़ाई लड़ रही है। माही को बचाने की लगातार कोशिश की जा रही है। गड्ढे में डाले गए सीसीटीवी कैमरे से मिली तस्वीर में माही का हाथ दिखाई दिया लेकिन गड्ढे के अंदर और किसी तरह की हरकत होती नहीं देखी गई है।
वहीं, बच्ची तक पहुंचने के लिए बनाई जा रही पैरेलल टनल के बीच पत्थर आने से दिक्कत और बढ़ गई है। माना जा रहा है कि इस काम को पूरा करने में अभी तीन से चार घंटे का वक्त और लगेगा।
बता दें कि जानकारी मिलने के बाद बुधवार देर रात डॉक्टरों और प्रशासनिक अफसरों की टीम पहुंची थी। इसके बाद गड्ढे के रास्ते बच्ची तक सीसीटीवी और ऑक्सीजन पहुंचाने की कोशिश शुरू की गई। तड़के करीब 4 से 5 बजे के दौरान डॉक्टरों ने गड्ढे में पाइप के जरिए बच्ची तक ऑक्सीजन पहुंचाई लेकिन इस दौरान बच्ची ने ना तो कोई आवाज दी और ना ही उसके रोने की आवाज आई।
सुबह रौशनी होती ही सेना के जवान मौके पर पहुंचे। प्रशासन ने जेसीबी मशीन पहले से ही मंगवा ली थी। इसके बाद बोरवेल के आसपास का इलाका खाली कराकर जवानों ने उसके बगल में दूसरा गड्ढा खोदने का काम शुरू कर दिया।
68 फीट गहरे गड्ढे में माही को गिरे 10 घंटे बीत चुके थे। लेकिन करीब 8 घंटे से उसकी आवाज किसी ने नहीं सुनी। माही किस हाल में है ये जानने के लिए गड्ढे में सीसीटीवी कैमरा डाला गया। जो ठीक से उस तक नहीं पहुंच पाया। सेना के जवानों की मदद के लिए एनएसजी की टीम भी मौके पर पहुंची और बचाव काम में मदद शुरू की।
एनएसजी के जवानों की मदद से दोबारा सीसीटीवी कैमरा गड्ढे के भीतर डाला गया जो सही तरीके से माही तक पहुंचने में कामयाब रहा।
दोपहर 2 बजे तक 30 से 35 फीट गहरा गड्ढा खोदा जा चुका था। आसपास रिहाइशी इलाका होने की वजह से ज्यादा गहरा गड्ढा खोदने में मुश्किल आ रही थी। ये देखते हुए जेसीबी से खुदाई का काम रोका गया। तय किया गया कि आगे की खुदाई ड्रिलिंग मशीन के जरिए की जाएगी।
दोपहर करीब पौने तीन बजे सीसीटीवी कैमरे में माही के हाथ की तस्वीर दिखाई दी, हालांकि माही की पूरी तस्वीर नहीं दिख पाई। फिलहाल ड्रिलिंग के जरिए माही तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.