ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

08 जून, 2012

बिहार में रहस्यमय बीमारी से 74 बच्चों की मौत

बिहार में रहस्यमय बीमारी से बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है और मई से लेकर अबतक एक्यूट इनसेफालोपैथी सिंड्रोम (एइएस) के 197 मरीजों में से 74 की जान जा चुकी है।

राज्य सरकार ने कहर ढाने वाली इस रहस्यमय बीमारी का नाम एइएस रखा है जो दिमागी बुखार से मिलते जुलते लक्षण सहित 17 अन्य बीमारियों को मिलाकर दिया गया नाम है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव अमरजीत सिन्हा ने कहा, 'पटना के पीएमसीएच, एनएमसीएच, मुजफ्फरपुर के केजरीवाल और एसकेएमसीएच तथा गया के एएनएमसीएच में राज्य भर के विभिन्न हिस्सों के 74 बच्चों की अब तक एइएस के कारण मौत हो चुकी है। मई और जून महीने में इस रहस्यमय बीमारी के अबतक 197 मामले सामने आए हैं।'

उन्होंने कहा कि इस वर्ष जापानी इनसेफलाइटिस ज्वर के दो मामलों की पुष्टि हुई है जो गया के एएनएमसीएच के हैं लेकिन किसी की भी इस बीमारी से मौत नहीं हुई है। मृत बच्चों में सभी मामले एइएस के हैं।

सिन्हा ने बताया कि एइएस में लू, सेरेब्रल मलेरिया, मेनिनजाइटिस, टीबी मेनिनजाइटिस, न्यूरोसिस्टीसरकोसिस, पायोजेनिक मेनिनजाइटिस सहित 17 बीमारियों या दिमागी बुखार से मिलते जुलते लक्षणों को रखा गया है। उन्होंने बताया कि राज्य के भागलपुर स्थित जेएलएनएमसीएच तथा दरभंगा के डीएमसीएच में दिमागी बुखार, जापानी मस्तिष्क च्वर या एइएस का अभी तक कोई भी मामला सामने नहीं आया।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.