ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

04 मई, 2012

डाक्टर से टीचर बनी नुपुर तलवार

अदालतों से किसी तरह की राहत नहीं मिलने के बाद नूपुर तलवार ने जेल में अन्य महिला कैदियों को पढ़ाना शुरू कर दिया है। अपनी बेटी आरूषि और घरेलू नौकर हेमराज की हत्या के सिलसिले में वह सोमवार से ही डासना जेल में बंद हैं।
जेल अधीक्षक वीरेश राज शर्मा ने कहा, नूपुर तलवार ने अन्य कैदियों को पढ़ाने की इच्छा जताई और हमने अनुमति दे दी। दंत रोग चिकित्सक नूपुर अपने पति राजेश तलवार के साथ 2008 में हुए दोहरे हत्याकांड में अदालती कार्रवाई का सामना कर रही हैं। शर्मा ने कहा कि नूपुर ने कैदियों को हिंदी और अंग्रेजी पढ़ाई। जेल अधिकारियों ने कहा कि अदालतों द्वारा उनकी जमानत याचिका खारिज किए जाने के बाद नूपुर निराश दिखीं। बाद में उन्होंने अधिकारियों से साथी कैदियों को पढ़ाने की अनुमति मांगी । उन्होंने कहा कि वह नियमित प्रार्थना और योग करती हैं। उन्होंने कहा, वह जेल में उपलब्ध किताबें पढ़ती हैं और जेल में अपनी मां के साथ रहने वाले बच्चों की जांच भी करती हैं। उन्होंने कहा कि नूपुर ने जेल में एक पार्क बनाने की भी इच्छा जताई है। शर्मा ने कहा कि नूपुर बिल्कुल सामान्य दिख रही हैं। मामले में मुख्य आरोपी तलवार ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दायर करने की प्रक्रिया कल शुरू की । गाजियाबाद की अदालत ने एक दिन पहले ही उन्हें जमानत देने से इंकार कर दिया था।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.