ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

12 फ़रवरी, 2010

देशभर में शांतिपूर्ण ढंग से रिलीज हुई फिल्म

शाहरुख खान अभिनीत 'माय नेम इज खान’ फिल्म का आज देशभर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन शुरू हुआ, जबकि शिवसेना की धमकियों के कारण मुंबई के चुनिंदा थिएटरों में ही इस फिल्म को रिलीज किया गया।

मुंबई में 10 मल्टीप्लेक्स मालिकों ने फिल्म को दिखाने का निर्णय किया, जबकि एकल पर्दे वाले सिनेमा हाल के मालिकों ने सिनेमा के प्रदर्शन को कुछ समय के लिए टालने का फैसला किया है।

अभूतपूर्व सुरक्षा के बीच रिलीज हुई फिल्म के पहले शो को देखने के लिए महाराष्ट्र के गृहमंत्री आरआर पाटिल मल्टीप्लेक्स आईनॉक्स गए।

फिलहाल बर्लिन में मौजूद शाहरुख खान ने शुक्रवार सुबह ट्विटर पर अपने संदेश में कहा-शुभ प्रभात मुंबई। फिल्म की किस्मत चाहे जो भी, लेकिन मैं इस शहर के लिए यह सब नहीं चाहता, जिसने मेरे सपनों को साकार किया और मुझे सब कुछ दिया। मेरा आपसे नाता है।

गुजरात में विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा फिल्म के विरोध में प्रदर्शन करने और पोस्टर जलाने के बाद कुछ शुरुआती शो रद्द कर दिए गए। दिल्ली, बैंगलुरु, कोलकाता, चेन्नई और कई अन्य शहरों में फिल्म की शुरुआत फुल हाउस के साथ हुई।

सत्यम सिनेप्लेक्स के उपाध्यक्ष जयेन्द्र बनर्जी ने बताया दिल्ली के हमारे थिएटरों में अपराह्न पश्चात शो के सभी टिकट बिक गए हैं। रविवार तक की एंडवास बुकिंग हो चुकी है।

एक वितरक ने बताया दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के करीब 75 पर्दों पर फिल्म दिखाई जा रही है। फिल्म को आज शिवरात्रि का अवकाश होने का फायदा मिल रहा है। औसत मल्टीप्लेक्स एक दिन में इस फिल्म के 11 से 12 शो दिखा रहा है।

फिल्म के प्रदर्शन को लेकर संकट गहराया गया था, क्योंकि आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को शामिल करने का समर्थन करने के कारण शिवसेना ने शाहरुख खान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

मुंबई के उपनगरीय अंधेरी क्षेत्र में शिवसेना के कुछ कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए उन पर लाठी चार्ज किया गया और उन्हें हिरासत में लिया गया। पार्टी कार्यकर्ता फिल्म दिखाने वाले फन रिपब्लिक सिनेमा के बाहर पथराव कर रहे थे।

पुलिस उपायुक्त के प्रसन्ना ने कहा हमने आठ शिवसैनिकों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने फिल्म के प्रदर्शन को बाधित करने का प्रयास किया।

फिल्मकार करन जौहर ने ट्विटर पर कहा हमारे प्यार की मेहनत को इतना सारा समर्थन मिलने से हम उत्साहित हैं और हमारे खुशी के आँसू निकल रहे हैं..धन्यवाद। मुंबई पुलिस ने इस फिल्म के सुचारु प्रदर्शन को सुनिश्चित करने के लिए शिवसेना के 1800 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।

किसी फिल्म के प्रदर्शन के समय किए गए अभूतपूर्व सुरक्षा प्रबंधों के तहत नाइट विजन वाले सीसीटीवी कैमरों को कुछ सिनेमा हालों में लगाया गया और बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है।

प्रदर्शन करते 14 शिवसैनिक गिरफ्तार : ‘माई नेम इज खान’ के प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शन कर रहे शिवसेना के 14 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लियामुंबई के अंधेरी स्थित फन रिपब्लिक सिनेमा के सामने पुलिस ने शिवसेना के आठ कार्यकर्ताओं को पकड़ा। इसके अलावा छह अन्य कार्यकर्ताओं को के-स्टार मॉल के बाहर से संदिग्ध तरीके से एकत्र होते समय गिरफ्तार किया गया।

पुलिस उपायुक्त के प्रसन्ना ने कहा हमने फन रिपब्लिक सिनेमा के सामने फिल्म के प्रदर्शन में बाधा पैदा करने की कोशिश कर रहे शिवसैनिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। कार्रवाई से नाराज शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने पथराव भी किया, जिसके परिणामस्वरूप पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

लखनऊ में हाउसफुल : भले ही मुंबई में शाहरुख खान अभिनीत ‘माई नेम इज खान’ को शिवसेना कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ रहा हो परन्तु लखनऊ में फिल्म दो सिनेमा हॉलों सहित कई मल्टीप्लेक्स में हाउसफुल जा रही है। फिल्म का वैसे प्रदेश की राजधानी में पहले से ही कोई विरोध नही था, लेकिन सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने सभी सिनेमाहालों और मल्टीप्लेक्स में कड़ी सुरक्षा बंदोबस्त के इंतजाम किए हैं।

डिलाइट सिनेमा के पास फूँका बाल ठाकरे का पुतला : शिवसेना के विरोध प्रदर्शन का सामना कर रही शाहरुख खान अभिनीत फिल्म ‘माई नेम इज खान’ का राष्ट्रीय राजधानी के सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्सों में कड़ी सुरक्षा के बीच बिना किसी अवरोध के प्रदर्शन हुआ। दिल्ली और एनसीआर के कोई 75 सिनेमाघर इस फिल्म का प्रदर्शन कर रहे हैं। फिल्म को आज शिवरात्रि की छुट्टी होने का भी फायदा मिला है। मल्टीप्लेक्सों में प्रतिदिन औसतन 11 से 12 शो दिखा रहे हैं।

शाहरुख खान के प्रशंसकों ने दिल्ली में डिलाइट सिनेमा के बाहर बाल ठाकरे का पुतला फूँका। इस दौरान कई युवा शिवसेना और ठाकरे के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे।

पश्चिम बंगाल में दर्शकों की भीड़ उमड़ी : ‘माई नेम इज खान’ के प्रदर्शन पर आज पश्चिम बंगाल में दर्शकों की भीड़ उमड़ पड़ी और प्रदेश के 131 सिनेमाघरों में फिल्म का पहला शो बिना किसी अवरोध के दिखाया गया। पाकिस्तानी खिलाड़ियों को आईपीएल में शामिल करने का पक्ष लेती अपनी टिप्पणी के बाद शिवसेना के विरोध प्रदर्शन का सामना कर रहे खान आईपीएल की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के मालिक भी हैं।

कबीर बेदी और पूजा बेदी पहुँचे फिल्म देखने : शाहरुख खान का समर्थन करते हुए ख्यात फिल्म अभिनेता कबीर बेदी और उनकी बेटी पूजा भी आज माय नेम इज खान देखने थिएटर पहुँचे। उन्होंने न्यूज चैनलों से बातचीत में कहा कि हम शाहरुख को चीयर करने के लिए फिल्म देखने आए हैं।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.