ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

18 फ़रवरी, 2010

बिहार के जमुई में माओवादी हमला, 12 मरे

बिहार के जमुई जिले में कल रात हथियारों से लैस करीब 150 माओवादियों ने 12 ग्रामीणों की हत्या कर दी। इस हमले में 12 ग्रामीणों के घायल होने की भी सूचना है।

पुलिस सूत्रों ने आज यहाँ बताया कि यह घटना कल रात जिले के सिकंदरा थानांतर्गत कुरासी गाँव की है। माओवादियों ने गाँव के करीब 30 घरों में आग भी लगा दी।

उन्होंने बताया कि प्रतिबंधित संगठन भाकपा (माओवादी) के करीब 150 माओवादियों के सशस्त्र दस्ते ने कुरासी गाँव को घेर लिया और कुछ घरों में आग लगा दी। माओवादियों ने इनमें से कुछ घरों को डाइनामाइट से उड़ा दिया।

सूत्रों के अनुसार नक्सलियों की अंधाधुँध गोलीबारी में अब तक 12 ग्रामीणों के मरने की पुष्टि हुई है, जिनमें तीन महिलाएँ भी शामिल हैं। सूत्रों ने कहा कि गाँव के दर्जनों लोग अभी भी लापता हैं।

उन्होंने कहा कि 31 जनवरी को ग्रामीणों ने आठ माओवादियों को कथित तौर पर मार डाला था। इस घटना के प्रतिशोध स्वरूप माओवादियों ने कल रात हमला कर 12 ग्रामीणों को मार डाला।

उल्लेखनीय है कि 31 जनवरी को पुलिस ने तलाशी अभियान के दौरान तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया था और नौ अन्य वहाँ से भागने में सफल हो गए थे। बताया जाता है कि भागे हुए नक्सली कुरासी गाँव के पड़ोस में गए थे, जहाँ ग्रामीणों ने उन्हें डकैत समझ उन्हें कथित तौर पर मार डाला और उनके शव जंगल में छिपा दिए।

भाकपा माओवादी के पूर्वी जोन के प्रवक्ता अविनाश ने अपने साथियों की हत्या के विरोध में कल बिहार बंद की और आज से दो दिनों का शोक मनाने की घोषणा की थी।

उसका दावा है कि उसके आठ साथियों प्रकाश मरांडी, सुशील सोरेन, विजय टुड्डू, संजय बर्नवाल, सोनू हेमब्राम, वीरेंद्र सोरेन, राजेश और रामलाल की पुलिस की मदद से गाँव वालों ने हत्या कर दी थी।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.