ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

14 अगस्त, 2009

दिल्ली सुरक्षाकर्मियों के हवाले

दिल्ली पुलिस की परीक्षा की घड़ी शुरू हो चुकी है। खुफिया सूचनाओं के हिसाब से अगले दो दिन सुरक्षा के लिए बेहद अहम है। ऐसे में सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। कमांडो दस्ते व अतिरिक्त बलों के अलावा पड़ोसी राज्यों की मदद भी सुरक्षा इंतजामों में ली गई है। शहर के सभी प्रमुख बाजार, महत्वपूर्ण स्थल तथा सार्वजनिक स्थल सुरक्षा कर्मियों के दायरे में हैं। एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल गन समेत हवाई निगरानी के इंतजाम भी पुख्ता कर लिए गए हैं। लालकिले के आसपास की इमारतों पर खासतौर पर पुलिस का सख्त पहरा रहेगा। जन्माष्टमी के चलते मंदिरों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। बृहस्पतिवार को पुलिस कमिश्नर वाई एस डडवाल ने आला अधिकारियों के साथ बैठक कर खुद सुरक्षा इंतजामों की घंटों समीक्षा की।

ज्ञात रहे खुफिया एजेंसियां स्वतंत्रता दिवस समारोह तथा उससे पहले राजधानी में किसी बड़ी आतंकी वारदात का अंदेशा जता रही हैं। स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पूर्व जन्माष्टमी पर्व भी है। इसलिए पुलिस ने प्रमुख मंदिरों को भी अपने पहरे में ले लिया है। शहर के हर संवेदनशील स्थान पर सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए गए हैं। बाजारों, मेट्रो रेल तथा रेलवे के अलावा बस स्टेशनों पर खोजी कुत्ते व बम निरोधक दस्तों की मदद से तलाशी का काम चालू है। दिल्ली से सटे पड़ोसी राज्यों के सभी बार्डरों पर संदिग्ध वाहनों व उसमें सवार लोगों को अच्छी तरह से चेंकिंग के बाद ही आने दिया जा रहा है। होटलों, गेस्ट हाउस व साइबर कैफे का रिकार्ड भी खंगाला जा रहा है। जम्मू कश्मीर से माल लेकर आने वाले ट्रकों पर पुलिस पैनी नजर रख रही है। सिंघू बार्डर पर कड़ी चेकिंग करने के बाद ही इन ट्रकों को राजधानी में प्रवेश करने की इजाजत दी जा रही है। सड़कों पर बाइक तथा जिप्सियों की मदद से पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। आला अधिकारियों के अनुसार स्वतंत्रता दिवस पर किसी प्रकार की कोई परेशानी न आए इसके लिए सभी तरह के उपाय अपनाए गए हैं। अर्धसैनिक बलों के अलावा एनएसजी के शार्प शूटर दस्ते भी सुरक्षा की कमान संभालेंगे। लालकिले पर आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह को ध्यान में रखकर आसमान से लेकर जमी तक कड़ा पहरा रहेगा। राजधानी की सभी सीमाओं को शुक्रवार रात से ही सील कर दिया जाएगा। समारोह स्थल पर आने जाने वाला हर शख्स पुलिस के खुफिया तंत्र की नजर में रहेगा। लालकिला व आसपास का सारा इलाका पूरी तरह से सुरक्षा के घेरे में है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए क्यूआरटी भी अत्याधुनिक हथियारों से मुस्तैद है। हवाई हमले की स्थिति को ध्यान में रखकर एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल गन भी मौजूद रहेंगी। स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान सुबह 2 घंटे लालकिले को नो प्लाइंग जोन घोषित किया गया है। इस दौरान लोहे के पुल पर शाहदरा तथा पुरानी दिल्ली स्टेशन के बीच रेलगाड़ियों का आवागमन भी पूरी तरह बंद रहेगा। लालकिले के पीछे यमुना खादर में भी सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे। इसके अलावा पड़ोसी राज्यों से कई ऐसे गुप्तचर भी बुलाए गए हैं जो आतंकियों के बारे में जानकारी रखते हैं। इलेक्ट्रानिक सर्विलांस के जरिए उनकी मदद से संदिग्ध लोगों की धरपकड़ की जाएगी।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.