ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

27 फ़रवरी, 2010

चिली में भूकंप से 76 लोगों की मौत

Santiago
दक्षिण मध्य चिली में शनिवार की सुबह आए विनाशकारी भूकंप में 76 लोगों की मौत हो गई। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 8.8 मापी गई। चिली के गृह मंत्री ने बताया कि भूकंप में 76 लोग मारे गए हैं लेकिन मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

देश के राष्ट्रपति मिशेल बालिचेट ने कहा कि अपने जीवन में मैंने ऐसा भूकंप नहीं देखा। यह बहुत शक्तिशाली भूकंप था और ऐसा लग रहा था कि पूरी दुनिया ही खत्म हो जाएगी। स्थानीय टेलीविजन और रेडियो ने बताया कि भूकंप से क्यूरिको शहर की कई इमारतें धराशाई हो गई और राजधानी सेंटियागो में भी कई इमारतों को नुकसान पहुँचा है।

सेंटियागो का अंतरराष्ट्रीय हवायी अड्डा बंद कर दिया है। इस दौरान राजमार्ग का पुल टूट गया और सड़कों में मलबे के गिरने से यातायात बाधित हो गया। इस बीच बालिचेट ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण के अनुसार सुबह तीन बजकर 34 मिनट पर आए इस भूकंप से इमारतें हिलने लगीं। राजधानी सेंटियागो के अधिकांश भाग में बिजली गुल होने से अंधेरा छा गया।

भूकंप का केन्द्र कानसेप्सिओन से 90 किलोमीटर दूर पूर्वोत्तर में जमीन के 55 किलोमीटर नीचे स्थित था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भूकंप के झटके 10 से 30 सेकंड तक महसूस किए गए।

इस बीच प्रशांत सुनामी चेतावनी केन्द्र ने चिली और पेरु के लिए सुनामी चेतावनी जारी की है। केन्द्र ने कहा कि इतनी तीव्रता वाले भूकंप से तटीय इलाकों में कुछ मिनटों के भीतर तथा दूरवर्ती इलाकों में एक घंटे के अंदर भयंकर सुनामी लाने की ताकत रखता है।

इसे हैती के भूकंप से भी बड़ा माना जा रहा है। हालाँकि यह जिस इलाके में आया है, वहाँ आबादी कम है। इससे पहले चीली में सबसे शक्तिशाली भूकंप 1960 में आया था। रिक्टर पैमाने पर उसकी तीव्रता 9.5 थी।

भूकंप आने के बीस मिनट बाद भी 6.2 तीव्रता का एक जोरदार झटका और महसूस किया गया। चिली की राष्ट्रपति मिशेल बेचलेट ने छह लोगों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने आशंका जताई है कि बड़ी संख्या में लोग घायल हो सकते हैं। उन्होंने जनता से शांति बनाए रखने को कहा है।

एक चश्मदीद सिमोन शेलडर ने स्काय न्यूज को बताया कि जैसे ही भूकंप आया, घर आगे और पीछे की ओर हिलने लगे। दरवाजे अपने आप खुल गए। मैंने कई हेलिकॉप्टरों को इलाके में गश्त लगाते देखा। शायद वे सभी भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के मकसद से आए थे। उन्होंने कहा हालाँकि सेंटियागो में भूकंपरोधी तकनीक से बनाई गईं नई इमारतों ने भूकंप को झटके को आसानी से सहन कर लिया।

दरअसल, सेंटियागो में भूकंप का इतिहास काफी पुराना है, इसलिए यहाँ पुराना निर्माण नहीं के बराबर है। पुरानी सभी इमारतें गिर गईं। उनकी जगह लोगों ने भूकंपरोधी नए मजबूत भवन बना लिए हैं।

सुनामी की चेतावनी चिली, पेरु, इक्वाडोर, कोलम्बिया, अंटार्कटिका, पनामा और कोस्टारिका में जारी की गई है। प्रशांत महासागर के पास जिस इलाके में भूकंप का केंद्र है, उसे रिंग ऑफ फायर या सिसमिक जोन के नाम से जाना जाता है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.