ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

21 दिसंबर, 2009

पूर्व डीजीपी को 6 महीने की जेल

हरियाणा के बहुचर्चित रुचिका कांड में अदालत ने हरियाणा के पूर्व डीजीपी और तत्कालीन हरियाणा लॉन टेनिस एसोसिएशन के अध्यक्ष एसपीएस राठौर को 6 महीने की सजा सुनाई है। सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने रुचिका के साथ छेड़छाड़ करने और उसे ख़ुदकुशी करने के लिए मजबूर करने का संगीन अपराध का दोषी पाया है। राठौर के सजा के साथ ही जमानत भी मिल गई और वे सजा के खिलाफ हाईकोर्ट जाएंगे।

हरियाणा के बहुचर्चित उभरती हुई महिला टेनिस खिलाड़ी रुचिका से छेड़छाड़ और मौत का ये मामला पिछले 19 सालों से चंडीगढ़ की विशेष सीबीआई अदालत में चल रहा था। अदालत ने राठौर को छेड़छाड़ करने और रुचिका को ख़ुदकुशी करने के लिए मजबूर करने का दोषी पाया।

दरअसल रुचिका के साथ जो कुछ हुआ उसकी इकलौती चश्मदीद रुचिका की दोस्त अराधना गुप्ता है। अराधना ऑस्ट्रेलिया से भारत सिर्फ इसलिए लौटीं ताकि वो अपनी मरहूम दोस्त को इंसाफ दिला सके। रुचिका ने 1993 में खुदकुशी कर ली थी। खुदकुशी के लिए मजबूर करने का आरोप लगा हरियाणा के पूर्व डीजीपी एस पी एस राठौर पर। मामला 1990 का है। तब पूर्व डीजीपी राठौर आईजी हुआ करते थे। रुचिका के परिजनों को इंसाफ के लिए काफी दिनों तक इंतजार करना पड़ा।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.