ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

23 अक्तूबर, 2009

वसुंधरा राजे ने इस्तीफा सौंपा

भाजपा की कद्दावर नेत्री और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को इस्तीफा सौंप दिया। पार्टी नेतृत्व ने उनसे राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद छोड़ने को कहा था। उल्लेखनीय है कि इस्तीफा न देना पड़े, इसके लिए राजे ने आलाकमान के साथ कई दौर की आँखमिचौनी खेली।

राजे के समर्थन में पार्टी से बगावत करने वाले तीन विधायकों का निलंबन वापस लेने के भी राजे अड़ी रहीं। उनकी माँग थी कि विपक्ष का नया नेता उनकी पसंद का हो। वे यह भी चाहती थीं कि उन्हें केंद्रीय नेतृत्व में किसी उच्च पद पर आसीन किया जाए।

हालाँकि बाद में राजे के आगे झुकते हुए पार्टी ने तीनों विधायकों का निलंबन तो वापस ले लिया, लेकिन बाकी माँगें नहीं मानी। इस पर राजे भी नरम पड़ीं और दिल्ली जाकर खुद को भाजपा का अनुशासित और समर्पित कार्यकर्ता बताया।

बाद में पार्टी अध्यक्ष ने वसुंधरा के साथ जारी गतिरोध को दूर करने की जिम्मेदारी वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू को सौंपी। नायडू के साथ बातचीत के लिए खुद जाने की बजाय वसुंधरा ने अपने बेटे दुष्यंतसिंह को भेज दिया। वसुंधरा ने उस वक्त बुखार होने का बहाना गढ़ा था।

उस वक्त ऐसा माना गया था कि वसुंधरा विधानसभा चुनाव होने का रास्ता देख रही हैं। चुनाव होते ही वे इस्तीफा सौंप देंगी।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.