ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

27 सितंबर, 2009

शाम होते मेले में बदल गयी राजधानी

नवरात्र के आठवें दिन राजधानी शाम होते ही पूरी तरह मेले में बदल गयी। देवी दर्शन को भक्तों की भारी भीड़ शहर की सड़कों पर उमड़ पड़ी। डाक बंगला चौराहा से लेकर जगदेवपथ तक भक्तों को तांता लगा रहा। भारी भीड़ के कारण शहर के प्रमुख सड़कों पर शाम को वाहनों का परिचालन बंद हो गया।

आश्विन शुक्लपक्ष अष्टमी को मां महागौरी की पूजा काफी श्रद्धा व उत्साह से की गयी। पंडालों एवं देवी मंदिरों में दिनभर पूजा-अर्चना के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। लोग शाम को शहर भ्रमण को निकले। डाक बंगला चौराहा, बोरिंग रोड चौराहा, श्रीकृष्णापुरी, जेडी.वीमेंस कालेज, शेखपुरा देवी स्थान, खाजपुरा शिवमंदिर एवं जगदेव पथ में विशाल पंडाल बनाया गया है। पंडालों में दर्शन करने वाले भक्तों की सुरक्षा के लिए पूजा समितियों के कार्यकर्ता एवं निजी सुरक्षा एजेंसियों जवान तैनात हैं। डाक बंगला चौराहा पर भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस एवं अगर सिक्यूरिटी के जवानों को तैनात किया गया है। पूजा समिति की ओर से भी लोगों पर नजर रखी जा रही है। पंडालों के आसपास बिजली की भव्य सजावट की गयी है। पूरा बोरिंग रोड जगमगा रहा है। शेखपुरा मोड से लेकर जगदेवपथ तक बिजली की सुन्दर सजावट की गयी है। उधर मछुआटोली में चालीस प्रतिमाएं स्थापित की गयी हैं, जिसे दर्शन करने दूर-दूर से लोग आ रहे हैं। शक्तिधाम मंदिर में भी देवी का पूजन किया गया। राजधानीवासियों की सुविधा के लिए सड़कों पर खाने-पीने की भरपूर व्यवस्था है। सड़कों पर स्थायी दुकानों के अलावा अस्थायी दुकानें लगायी गयी हैं। बच्चों के खिलौने की बिक्री जोरों पर है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.