ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

21 सितंबर, 2009

ईद की पूर्व संध्या पर मेहंदी लगाने से तौबा

ईद की पूर्व संध्या पर मेहंदी लगाने के बाद महिलाओं और लड़कियों की तबीयत अचानक बिगड़ने की खबर से भागलपुर, पटना, जहानाबाद समेत झारखंड के कई जिलों में हड़कंप मच गया। ऐसी अफवाह एक जगह से उठी और देखते-देखते कई जिलों को चपेट में ले लिया। जगह-जगह मस्जिदों से मेहंदी न लगाने और अगर लगा ली है तो इसे छुड़ाने की घोषणा की जाने लगी।
जानकारी के अनुसार, मोहिबचक की मो। रजी अहमद की बेटी गौसिया(15)व मो। मेहरूदीन की आठ साल की बेटी अरबी फातिमा को मेहंदी लगवाने के बाद हाथ में दाने निकल आए और वह बीमार पड़ गई। इसके बाद विभिन्न मस्जिदों से यह एलान किया जाने लगा कि लड़कियां मेहंदी मत लगाएं, यदि मेहंदी लगा ली है तो हाथों को साबुन से साफ कर उसमें डिटाल लगा लें। बताया जाता है कि गौसिया ने डीएन सिंह रोड के किसी फुटपाथी दुकान पर मेहंदी लगवाई थी। इसके कुछ समय बाद उसके हाथों में दाने निकलने लगे और बुखार आ गया। उसका इलाज कर रहे चिकित्सक का कहना है कि या तो मेहंदी में केमिकल डाला हुआ है या फिर मेहंदी एक्सपायरी हो चुकी थी। ऐसी घटना उन्होंने पहली बार सुनी है। मुस्तफापुर के सजीद की एक साल की बेटी सुहानी को भी उसकी मां ने मेहंदी लगा दी थी, जिसके बाद उसके हाथों में जलन हो गई और उसे नींद भी आने लगी। वहीं अफजल की आठ वर्षीय पुत्री आफरीन इन घटनाओं को सुन कर घबरा गई और उसे इलाज के लिए मायागंज अस्पताल लाना पड़ा। वहीं हुसैनाबाद बाल्टी कारखाना के पास भी दो लड़कियों और एक लड़के को मेहंदी लगाने के बाद हाथ में जलन होने की सूचना मिली है। दूसरी ओर बरहपुरा उत्तरी टोला के मो। वकील खान की सात वर्षीय बेटी सामरीन को भी मेहंदी लगाने के बाद हाथ में जलन की सूचना मिली थी। मस्जिदों से मेहंदी लगाने की मनाही और एहतियाती कदम उठाने की घोषणा के बाद चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। देर रात तक विभिन्न दवा दुकानों पर एंटी एलर्जिक दवाओं को खरीदते दिखे। चमेलीचक के मो। इमरान खां की पत्‍‌नी आरजू बेगम ने बताया कि रात करीब 11 बजे उसने दोनों हाथ में मेहंदी क्या लगाई शरीर में दस मिनट बाद ही चुनचुनाहटशुरू हो गई। हाथ पैर ठंडे पड़ गए तथा चक्कर आने लगा। तत्काल उसे खलीफाबाग स्थित लाइफ लाइन अस्पताल में भर्ती कराया गया। चार साल की बच्ची शबाना खातुन बंगाल से ईद मनाने ननिहाल ततारपुर आई थी लेकिन रात में नन्हें हाथों में मेहंदी चढ़ते ही उसका दम घुटने लगा। उसे भी इलाज के लिए लाइफ लाइन अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके अलावा शहर के दर्जनों मोहल्लों से मेहंदी के कारण लड़कियों, बच्चियों व महिलाओं के बीमार होने की सूचना है। उधर, हजारीबाग, चतरा, डालटनगंज, गुमला आदि जिलों के सदर अस्पताल में इससे प्रभावित लड़कियों की भीड़ लग गईं। लगभग सौ से अधिक बच्चियां, महिलाएं गंभीर रूप से बीमार बताई गई हैं। लोग तरह-तरह की बातें कर रह रहे हैं। वैसे अधिकारियों ने लोगों से संयम बरतने को कहा है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.