ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

05 सितंबर, 2009

सोना लूट बिहार भाग रहे चार दबोचे


गुजरात में एक ज्वेलर व उनके पुत्र को चाकुओं से गोदकर साढ़े तीन किलो सोना लूटने वाले गिरोह के सरगना समेत चार लुटेरों को क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया है। गिरोह के कब्जे से पौने तीन किलो सोना भी बरामद हो गया है। इन बदमाशों की गिरफ्तारी गुजरात क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर की गई। गिरोह सरगना व उसके एक साथी को पुलिस टीम ने रेलवे स्टेशन से उस समय पकड़ा जब वह दिल्ली से बिहार भागने की तैयारी कर रहे थे। उनकी निशानदेही पर दो अन्य आरोपियों को दबोचा गया।

अतिरिक्त आयुक्त क्राइम ब्रांच नीरज ठाकुर के अनुसार गत 29 अगस्त को गुजरात के अंजार शहर में ज्वेलर धीरज लाल प्रेमजी भाई सोनी तथा उनके पुत्र नवनीत धीरज लाल सोनी रात को दुकान बंद कर अपनी गाड़ी से घर लौट रहे थे। रास्ते में करीबन नौ बदमाशों ने मिलकर उनकी गाड़ी में रखी ज्वेलरी को लूट लिया व विरोध करने पर बाप-बेटे पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया। पिता पुत्र का अभी भी अहमदाबाद में इलाज चल रहा है।

स्थानीय अंजार थाने में लूट का मामला दर्ज हुआ तो गुजरात क्राइम ब्रांच ने मामले की जांच शुरू की। जांच में छपरा बिहार के कुछ अपराधियों के नाम सामने आए। संभावना जताई गई कि वे दिल्ली व आसपास में क्षेत्र में छिपे हो सकते हैं। इस पर दिल्ली क्राइम ब्रांच से सहयोग मांगा गया। इस पर दिल्ली क्राइम ब्रांच ने गुजरात क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर कौशांबी , गुड़गांव समेत दर्जनों स्थानों पर दबिश दी। इस बीच सूचना मिली की उस वारदात में शामिल अपराधी दिल्ली छोड़कर भागने की फिराक में है। इस पर पुलिस ने रेलवे स्टेशनों पर अपनी नजर रखनी शुरू कर दी। बृहस्पतिवार पुलिस टीम को उस समय सफलता मिली जब उसने संदिग्ध अवस्था में सुनील व भाग्य नारायण महतो को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के समीप से पकड़ा। दोनों वैशाली एक्सप्रेस से बिहार जाने की तैयारी में थे। दोनों की तलाशी में आधा किलो सोना बरामद हुआ। पूछताछ में पता चला कि उनके दो सहयोगी दिल्ली के जनकपुरी इलाके में वेस्ट सागरपुर में अपने किसी रिश्तेदार के यहां ठहरे हुए हैं। तत्काल क्राइम ब्रांच की टीम ने वहां छापा मारकर अमीर नाथ व मनोज कुमार नामक दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से सवा दो किलो सोना मिला। कुल मिलाकर चारों लुटेरों के कब्जे से क्राइम ब्रांच ने लूटा गया पौने तीन किलो सोना बरामद किया।

पूछताछ में पता चला कि इस वारदात का मास्टर माइंड छपरा निवासी सुनील है। वह गुजरात में ही मैकेनिक का काम करता है। उसे जानकारी थी कि धीरज लाल प्रेमजी भाई सोनी व उनका पुत्र रात को दुकान से काफी मात्रा में सोना लेकर जाते है। उसने तत्काल अपने गांव फोन कर वहां से अपने साथियों को बुलाया और लूट की साजिश रची। सुनील से इस वारदात में शामिल अपने 5 अन्य साथियों का सुराग गुजरात पुलिस को दे दिया है।

अतिरिक्त आयुक्त के अनुसार खास बात यह है कि ज्वेलर ने लूट में केवल 1 किलो सोना ही दर्शाया था। जबकि आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि उन्होंने साढ़े तीन किलो से अधिक सोना लूटा था। गुजरात पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.