ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

26 सितंबर, 2009

एक काल दूर होगी व्यक्ति की पहचान

महत्वाकांक्षी 'यूनिक आईडेंटिटी प्रोजेक्ट' [यूआईपी] के शुरू होने के बाद किसी भी व्यक्ति की सही पहचान मोबाइल फोन से सिर्फ एक काल की दूरी पर होगी।

यूनिक आईडेंटिटी अथारिटी आफ इंडिया [यूआईडीएआई] के अध्यक्ष नंदन नीलेकणि ने शनिवार को यहां कहा कि हर भारतीय नागरिक का विस्तृत डेटाबेस बनाने के लिए शुरू किए गए यूआईपी की मदद से अधिकारी मोबाइल फोन से लोगों की पहचान की जांच कर सकेंगे।

सीएसआईआर के स्थापना दिवस के अवसर पर व्याख्यान देते हुए उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति की पहचान की पुष्टि करना चाहेगा तो वह मोबाइल फोन पर उस व्यक्ति के अंगूठे या उंगलियों के निशान लेकर उसके केंद्रीय डेटाबेस में भेजकर चंद सेकेंडों में अधिकृत सूचना प्राप्त कर सकेगा।

नीलेकणि ने कहा कि यूआईडीएआई आनलाइन प्रमाणीकरण की सुविधा उपलब्ध कराने वाली दुनिया की संभवत: पहली इकाई होगी, जहां एजेंसियां किसी निवासी की केंद्रीय डेटाबेस में रिकार्ड की गई जनसांख्यिकीय और जीवमितीय सूचना का मिलान कर सकते हैं।

बहरहाल, आनलाइन प्रमाणीकरण सिर्फ 'हां या ना' की प्रतिक्रिया के जरिए ही किया जाएगा और यूआईडीएआई नागरिक से जुड़ी इस सूचना को प्रशासन के साथ नहीं बांटेगा।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.