ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

01 अगस्त, 2009

एक करोड़ के लिए नाना-मामा ने किया मासूम को अगवा

पैसों की लालच में मामा व नाना ने अपहरण की इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया। हालांकि पुलिस ने उनकी साजिश का भंडाफोड़ कर दिया और बृहस्पतिवार को आरोपी मामा व नाना को गिरफ्तार कर बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया। नांगलोई पुलिस ने अपहरण व फिरौती मांगने के आरोप में नाना धरम सिंह व 14 वर्षीय मामा को गिरफ्तार करने के बाद बरामद बच्चे को परिजनों को सौंप दिया है।

पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त शरद अग्रवाल के अनुसार, नांगलोई की अमर कालोनी निवासी सूबेदार बलवंत सिंह ने 21 जुलाई को नांगलोई थाने में ढाई वर्षीय पोते यश उर्फ नानू के अपहरण की रिपोर्ट लिखवाई थी। उन्होंने बताया कि सुबह घर के बाहर खेलते समय यश को अगवा कर लिया गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। इसी बीच 26 जुलाई को बलवंत सिंह से बच्चे की सकुशल वापसी के लिए एक करोड़ रुपये की फिरौती की मांगी गई। इसकी सूचना मिलते ही एसीपी विकासपुरी तेजपाल नागर के नेतृत्व में नांगलोई एसएचओ राजवीर सिंह मलिक, एसआई राजेंद्र शर्मा, एएसआई उमेद सिंह व हेड कांस्टेबल राजेंद्र के नेतृत्व में टीम बनाई गई। बलवंत सिंह पीरागढ़ी में सिक्यूरिटी एजेंसी चलाते हैं, जबकि यश के पिता बालमुकुंद की हरियाणा के झज्जर जिले में जेवर की दुकान है। पुलिस ने परिजनों से पूछताछ शुरू की तो पता चला कि 20 जुलाई को यश का 14 वर्षीय मामा तीज का तोहफा लेकर नांगलोई आया था। वह दो दिन रुका। शक होने पर पुलिस यश के हरियाणा के पानीपत जिला स्थित ननिहाल गई और उसके मामा से कड़ाई से पूछताछ की। इसके बाद वह टूट गया और अपहरण की बात पुलिस को बता दी।

पुलिस उपायुक्त के अनुसार, नाना धरम सिंह ने ही रुपये के लिए यश के अपहरण का षड्यंत्र रचा था। उसका बेटा नांगलोई जाने के बाद लगातार उसके संपर्क में था। 21 तारीख की सुबह यश घर के बाहर खेल रहा था तो इसकी जानकारी बेटे ने धर्म सिंह को दे दी। वह बच्चे को लेकर वहां से चला गया। बाद में उसने यश को गोहाना स्थित अनाथालय में रख दिया। उसके बाद उसने बलवंत सिंह को फोन कर एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी।

बच्चे के मामा द्वारा अपहरण में पिता के साथ शामिल होने की जानकारी के बाद पुलिस ने बच्चे को अनाथालय से मुक्त करा लिया और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। नाना धरम सिंह को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में ले लिया गया है, जबकि उसके नाबालिग बेटे को बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.