ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

15 अगस्त, 2009

काबुल में नाटो मुख्यालय के पास धमाका

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार को नाटो सैन्य मुख्यालय के बाहर एक कार बम हमले में तीन लोगों की मौत हो गई और कम से कम 14 लोग घायल हो गए। यह जानकारी रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने दी।
शहर के बीचोंबीच राष्ट्रपति भवन और भारतीय दूतावास के करीब यह हमला हुआ। इस जोरदार धमाके के बाद विस्फोट स्थल की सड़क पर खून ही खून फैल गया और लोग घायलावस्था में पड़े दिखाई दिए। घायलों में कई बच्चे शामिल हैं जो नाटो के द्वार के बाहर विदेशियों को गोंद बेच रहे थे।
नाटो मुख्यालय उसी मार्ग पर स्थित है, जहाँ अमेरिकी दूतावास और राष्ट्रपति भवन है। पास ही अफगानिस्तान का परिवहन मंत्रालय भी है।
नाटो नीत अभियान की अमेरिकी प्रवक्ता एलिजाबेथ मेथियस ने कहा कि विस्फोट नाटो के अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा सहायता बल के द्वार के निकट हुआ।
अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद जहीर अजीमी ने बताया कि विस्फोट स्थल के आसपास कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। हताहतों की संख्या ज्ञात नहीं है। अजीमी ने आशंका जताई कि हताहतों की संख्या काफी ज्यादा हो सकती है।
घटनास्थल पर मौजूद एपी के संवाददाता ने बताया कि नाटो के मुख्यालय में कई बड़े सीमेंट के ब्लॉक बने हैं और दरवाजे इस्पात के हैं, जिसके चलते कोई भी अंदर नहीं जा सकता। ऐसा प्रतीत होता है कि बम हमलावर अवरोधकों को नहीं लांघ सका। इस वजह से नाटो मुख्यालय को काफी कम नुकसान पहुँचा होगा।
इस जोरदार विस्फोट से राजधानी दहल गई और आकाश में धुँआ छा गया। काबुल में अंतरराष्ट्रीय महत्व के ठिकाने पर यह हमला ऐसे समय हुआ जब देश में राष्ट्रपति पद तथा प्रांतीय परिषद के चुनाव होने में एक सप्ताह से भी कम समय शेष रह गया है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.