ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

08 अगस्त, 2009

स्‍वाइन फ्लू: इसके लक्षण और बचाव

स्वाइन फ्लू का खौफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. सरकार सतर्क हो गई है और इससे बचने के उपायों से आम लोगों को अवगत करा रही है. आप भी सतर्क हो जाएं.
स्‍वाइन फ्लू के लक्षण
स्वाइन फ्लू का खौफ दिन-ब दिन बढ़ता जा रहा है. यहां ये जानना जरूरी है कि इस बीमारी के क्या लक्षण हैं? आखिर कब ऐसा लगे कि आपको जांच के लिए अस्पताल जाना चाहिए?
-सिर में दर्द, बुखार, गले में खराश, खांसी, बदन में कहीं भी दर्द, सांस लेने में दिक्कत.
ऐसे लक्षण जब भी हों, सावधान हो जाइये. ये स्वाइन फ्लू हो सकता है. तुरंत जांच करवाइये.
कैसे बचें स्वाइन फ्लू से
आखिर कैसे बचें स्वाइन फ्लू से जिसका खौफ दिन-ब दिन बढ़ता जा रहा है. आइये हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे उपाय जिसे आजमा कर आप स्वाइन फ्लू से दूर रह सकते हैं. कहते हैं इलाज से बढ़िया है बचाव इसलिए स्वाइन फ्लू से बचने के लिए आपको हर पल सजग रहने और कुछ खास चीजों का ध्यान रखने की जरुरत है.
- हमेशा हाथों को साबुन और डेटॉल वाले पानी से धोएं.
- खांसते वक्त मुंह और नाक को रुमाल या कपड़े से ढंकें.
- खांसने, छींकने या नाक साफ करने के बाद आंख, नाक और मुंह पर हाथ कतई न लगाएं. शरीर के ये हिस्से सबसे ज़ल्दी फ़्लू की चपेट में आते हैं.
- फ्लू प्रभावित व्यक्ति से एक हाथ की दूरी बनाकर रखें.
- भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें. इन जगहों से लौटने के बाद पहले हाथ और फिर मुंह धोएं.
- घर में उन जगहों की खास सफाई रखें, जिसका इस्तेमाल सब लोग करते हैं. मसलन, दरवाजे का हैंडल, स्विच. कंप्यूटर की बोर्ड, रसोई गैस.
- मेज़, रसोई, बाथरूम और घर के कोनों को साफ़ रखें. इन जगहों पर बैक्टरिया आसानी से पनपते हैं. सफ़ाई के लिए पानी के साथ कीटनाशकों का इस्तेमाल करें.
- रुमाल और इनहेलर जैसी चीजे़ बेहद साफ सुथरी रखें.
- पर्याप्त पानी, पौष्टिक आहार और नींद लें.
- अनजान लोगों से हाथ मिलाने और गले मिलने से बचें.
- खुली जगहों पर ना थूकें.
- उन देशों का सफर ना करें, जहां स्वाइन फ्लू के मामले पाए गए हैं.
- स्वाइन फ्लू प्रभावित देशों से लौटने के बाद तुरंत जांच कराएं.

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.