ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

23 जुलाई, 2009

इंदौर में बारिश का कहर : 11 मरे

इंदौर जिले में पिछले दो दिन से जारी भारी बारिश से 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन हजार लोग बेघर हो गए।
सरकारी सूत्रों ने बताया कि इनमें से चार की मौत बारिश के दौरान करंट लगने से हुई और पांच ने तालाब-नालों में डूबने के कारण दम तोड़ा।
उन्होंने कहा कि आकाशीय बिजली गिरने से एक व्यक्ति मारा गया, जबकि एक की दीवार गिरने से मृत्यु हुई। सूत्रों के मुताबिक, इंदौर में भारी बारिश का बुरा असर रेल, सड़क और वायु परिवहन पर भी पड़ा। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी का देश के कई शहरों से संपर्क टूट गया। हालांकि इस सिलसिले में हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं। प्रशासन ने भारी वर्षा के चलते आज जिले के स्कूल-कालेज बंद रखने करने का फैसला किया। जिलाधिकारी राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि बारिश से जिले भर में नदी-नाले उफान पर हैं। जलमग्न इलाकों से अब तक कम से कम तीन हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया है। श्रीवास्तव के मुताबिक, वर्षा की विभीषका के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में नदी-नालों के किनारे बने कई कच्चे मकान ढह गए और सैकड़ों मवेशी भी बह गए।
उन्होंने बताया कि जिले में राहत कार्य जारी हैं और बारिश से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, इंदौर जिले में पिछले 48 घंटों के दौरान औसतन 207.94 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इस अवधि में सबसे ज्यादा पानी इंदौर शहर में बरसा, जहां 308.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.