ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

18 जून, 2009

गंगा प्रसाद बांध के निर्माण की जांच

गोपालपुर प्रखंड स्थित गंगा प्रसाद बांध के निर्माण कार्य में बीते साल हुई अनियमितता की शिकायत की जांच दो सदस्यीय निगरानी टीम द्वारा गुरूवार को किए जाने के बाद नवगछिया में करोड़ों रुपये की लागत से चल रहे कटाव निरोधी कार्य में किसी भी प्रकार की अनियमितता रोकने के लिए जल संसाधन विभाग चौकस हो गया है। इससे पूर्व जल संसाधन सचिव अजय नायक द्वारा काजी कौरेया व सैदपुर में चल रहे कटाव निरोधी कार्य के निरीक्षण के बाद भी वहां की कार्य संस्कृति में परिवर्तन आया है। अभियंता से लेकर संवेदक तक कार्य में चुस्ती बरत रहे हैं। बीते साल गोपालपुर प्रखंड स्थित गंगा प्रसाद बांध के निर्माण कार्य में हुई अनियमितता की शिकायत मिलने के बाद उसकी जांच के लिए पटना से दो सदस्यीय निगरानी टीम ने गुरूवार को गांव जाकर बांध की स्थिति की जांच की। विभागीय सूत्रों के अनुसार पिछले साल हुए कार्य के बारे में जल संसाधन विभाग की निगरानी टीम को शिकायत मिली थी कि बांध के जीर्णोद्धार कार्य की खानापूर्ति कर करोड़ों रुपये की राशि की निकासी कर ली गई थी। बुधवार को निगरानी टीम ने कार्य का आकलन करने के बाद बाढ़ नियंत्रण विभाग नवगछिया कार्यालय आकर इसके जुड़े कागजातों की भी जांच की। इस विभाग के सहायक अभियंता मिथलेश प्रसाद सिंह ने इसमें उन्हें सहयोग किया। निगरानी टीम ने जांच कार्य पूरा कर लिया है। वह पटना जाकर आलाधिकारियों को जांच रिपोर्ट सौंपेगी। बाढ़ नियंत्रण विभाग के कार्यपालक अभियंता दीपनारायण मंडल ने निगरानी टीम की जांच की पुष्टि करते हुए बताया कि जांच रिपोर्ट का खुलासा नहीं किया गया है। जांच टीम में एक कार्यपालक अभियंता व एक सहायक अभियंता शामिल थे। इस जांच से कार्य से जुड़े संवेदकों की धड़कनें तेज हो गई हैं। कार्यपालक अभियंता ने बताया कि इस कार्य में जो भी भुगतान किया गया है वो उनके पूर्ववर्ती अभियंताओं ने किया है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.