ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

08 जुलाई, 2012

ज्ञानेंद्र का सपना, राज सिंहासन हो अपना

नेपाल के अपदस्थ नरेश ज्ञानेंद्र शाह ने पहली बार इच्छा जाहिर की है कि वह राज सिंहासन पर वापसी करना चाहते हैं। एक चैनल से बातचीत में पूर्व नरेश ने कहा कि उन्होंने छह वर्ष पहले देश की राजनीतिक पार्टियों से समझौता किया था कि वह एक संवैधानिक सम्राट होंगे, लेकिन सरकार ने वर्ष 2008 में राजशाही को समाप्त कर दिया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार पूर्व नरेश ने कहा कि उनकी नेपाल की राजनीति में सक्रिय होने की इच्छा नहीं है, लेकिन वह एक व्यापक औपचारिक भूमिका चाहते हैं। शाह की यह नई टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब नेपाल राजनीतिक उथल-पुथल के दौर से गुजर रहा है और राजनीतिक पार्टियों को देश के लिए नए संविधान पर सहमति बनाने में काफी कठिनाई हो रही है।
उल्लेखनीय है कि राजनीतिक पार्टियों के बीच किसी समझौते पर सहमति न बन पाने के कारण हाल ही में संविधान सभा को भंग कर दिया गया था। नवंबर में नए चुनावों की योजना बनाई गई है।
बीते शनिवार ज्ञानेंद्र ने राजधानी काठमांडू स्थित निवास पर एक समारोह का आयोजन कर अपना 66वां जन्मदिन मनाया था। इस समारोह में उनके सैंकड़ों शुभचिंतक, रिश्तेदार और राजशाही-समर्थक राजनीतिक कार्यकर्ता शामिल हुए थे।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.