ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

16 अक्तूबर, 2010

और आसान होगी तकनीकी पढ़ाई की राह


नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो : इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर और एनीमेशन की पढ़ाई करने वाले छात्रों की राह अब और आसान हो सकती है। उन्हें दो महीने के भीतर 2डी व 3डी डिजाइन सॉफ्टवेयर के साथ ही विज्ञान, तकनीकी, एनीमेशन आदि की जानकारी मुफ्त में मिल सकेगी। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने इसके लिए दो कंपनियों से करार किया है। एआईसीटीई के कार्यवाहक अध्यक्ष प्रो. एस.एस. मंथा ने इसके लिए आटोडेस्क कंपनी के मुख्य शिक्षा अधिकारी डा. जो. आस्ट्रो व माइक्रोसाफ्ट इंडिया के महाप्रबंधक मूर्ति उप्पालरी के साथ शुक्रवार को यहां एक सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। इस दौरान मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल भी मौजूद थे। इस मौके पर डा. जो ने कहा कि उनकी कंपनी ने इंजीनियरिंग डिजाइन, आर्किटेक्चर, सिविल इंजीनियर्स और इस तरह की दूसरी तकनीकी जानकारियों के लिए साफ्टवेयर तैयार किए हैं। इनके कुल 32 कंपोनेंट हैं। इस एमओयू के बाद कंपनी उन्हें एआईसीटीई की बेवसाइट पर उपलब्ध करा देगी। तकनीकी पढ़ाई करने वाले छात्र व शिक्षक उसका उपयोग मुफ्त में कर सकेंगे। उन्हें किसी भी सामग्री के डाउनलोड करने की पूरी आजादी होगी और उसके लिए न तो छात्रों व शिक्षकों को और न ही एआईसीटीई को कोई भुगतान करना होगा। माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के अधिकारी ने भी बताया कि कंपनी ने विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र का साफ्टवेयर तैयार किया है। उसके छह कंपोनेंट हैं जिन्हें करार के बाद कंपनी एआईसीटीई की वेबसाइट पर डाल देगी। उपयोग का तरीका क्या होगा? इस सवाल के जवाब में एआईसीटीई के कार्यवाहक चेयरमैन ने कहा, परिषद ने अपने से संबद्ध सभी तकनीकी संस्थानों को विशेष आईडी (पहचान कोड) दे रखा है जबकि शिक्षकों व छात्रों को भी अलग से कोड दिया जाना है। वही लोग इसका उपयोग कर पाएंगे, इसलिए दुरुपयोग की गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि दोनों कंपनियों के साफ्टवेयर एआईसीटीई की वेबसाइट पर उपलब्ध हो गए हैं, लेकिन शिक्षकों व छात्रों के लिए इनके उपयोग में दो महीने का समय लग सकता है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.