ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

14 अप्रैल, 2010

बंगाल, बिहार में तूफान से 76 मरे

पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले, इससे लगे बिहार के चार जिलों और असम के पाँच जिलों में 125 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आए भयंकर तूफान में कम से कम 76 लोगों की मौत हो गई और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि उत्तरी दिनाजपुर जिले के चार प्रखंडों में मंगलवार को मध्य रात्रि को आए तूफान में 33 लोगों की मौत हो गई और 100 लोग घायल हो गए। वहीं बिहार के किशनगंज, अररिया, सुपौल और पूर्णिया में भी इतने ही लोग तूफान का शिकार हो गए, जिसका प्रकोप करीब 40 मिनट तक रहा।

उत्तरी दिनाजपुर जिले के मुख्यालय रायगंज में राष्ट्रीय राजमार्ग 34 के दोनों ओर गाँवों में झोपड़ियों और घरों की छतें हवा में उड़ गईं और काफी दूर जाकर गिरीं, इसमें अनेक लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पश्चिम बंगाल के असैन्य सुरक्षा मंत्री श्रीकुमार मुखर्जी ने कहा कि तूफान की गति 125 किलोमीटर प्रतिघंटे थी, जिसमें करीब 50 हजार घर क्षतिग्रस्त हो गए जिससे जिले के सैकड़ों लोग बेघर हो गए। रायगंज में पुलिस बैरक भी नष्ट हो गए।

पड़ोसी बिहार के किशनगंज, अररिया, पूर्णिया और सुपौल जिलों से आधिकारिक सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कम से कम 33 लोग मारे गए और 125 लोग घायल हो गए।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रत्येक मृतक के परिजनों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की, इसके अलावा इंदिरा आवास योजना के तहत पक्के घर बनाने की और खाद्यान्न बाँटने की भी घोषणा की। तूफान उस समय आया जब लोग सो रहे थे और मिट्टी के बने अधिकतर घरों के ढह जाने से लोगों की उसमें दबकर मौत हो गई।

सूत्रों ने कहा कि तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित बिहार का अररिया जिला था। तूफान से जोकीहाट, फार्बिसगंज और अररिया प्रखंड में ज्यादा तबाही हुई जहाँ दूरसंचार व्यवस्था ठप हो गई और वृक्ष एवं घर ढह गए।

पश्चिम बंगाल के आपदा प्रबंधन मंत्री मुर्तजा हुसैन ने कहा कि प्रभावित इलाकों में 20 हजार तिरपाल, सूखे खाद्य पदार्थ और कपड़े भेज दिए गए हैं। उत्तरी दिनाजपुर जा रहे हुसैन ने कहा कि असैन्य सुरक्षा मंत्री इलाके में डेरा डाले हुए हैं और राहत कार्यों का जायजा ले रहे हैं।

उत्तरी दिनाजपुर में अपनी एक रिश्तेदार को तूफान में खो चुकीं 40 वर्षीय ताला हेमराम ने बताया कि जैसे ही हमें इस बारे में पता चलता तब तक तूफान ने हम पर कहर ढा दिया। डर के कारण हम घरों से निकल आए।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.