ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

27 दिसंबर, 2009

शिबू 30 को संभालेंगे झारखंड की कमान

'किंग मेकर नहीं, मैं किंग हूं।' झारखंड के चुनाव परिणाम आने के बाद झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन द्वारा कही गई यह बात अब सच होने जा रही है। सियासी हलकों में 'गुरुजी' के नाम से मशहूर शिबू सोरेन को आखिरकार गद्दी मिल ही गई। वह 30 दिसंबर यानी बुधवार को झारखंड की बागडोर तीसरी बार संभालने जा रहे हैं। झारखंड मुक्ति मोर्चा [झामुमो] सुप्रीमो रांची के ऐतिहासिक मोरहाबादी मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। वह झारखंड के सातवें मुख्यमंत्री होंगे। शिबू सोरेन के साथ ही सभी 11 मंत्रियों को भी शपथ दिलाया जाएगा।

राज्यपाल के. शंकर नारायणन ने उन्हें रविवार को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। शिबू चार वाहनों के काफिले के साथ तीन बजे राजभवन पहुंचे। शनिवार को पेश किए गए बहुमत के दावे से संतुष्ट राज्यपाल ने उन्हें सरकार बनाने का न्योता दिया। राज्यपाल ने उनसे पूछा कि वे चाहें तो कल ही शपथ दिलाई जा सकती है। शिबू ने आभार जताते हुए कहा कि वह बुधवार को शपथ लेना चाहेंगे। इस पर राज्यपाल ने सहमति दी। पहले मंगलवार को ही शपथ ग्रहण की बात चल रही थी। बुधवार को शिबू के हिसाब से शुभ दिन देखते हुए दो बजे शपथ लेना तय हुआ। शिबू के साथ ग्यारह अन्य मंत्री भी शपथ लेंगे। इसकी सूची अभी बन रही है। राज्यपाल ने दोपहर करीब ढाई बजे शिबू से दूरभाष पर बात की और उन्हें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। झामुमो,भाजपा,जदयू,आजसू और निर्दलीयों के सहयोग से बन रही सरकार के समर्थन में विधायकों की संख्या 46 हो गई है। निर्दलीय विधायक चमरा लिंडा और विदेश सिंह ने भी शिबू को समर्थन दे दिया है।

शिबू सोरेन का बतौर मुख्यमंत्री यह तीसरा कार्यकाल होगा। पहली बार वे वर्ष 2005 के चुनाव के बाद यूपीए के मुख्यमंत्री बने थे। लेकिन सदन में बहुमत सिद्ध न कर पाने की वजह से नौवें दिन ही सरकार गिर पड़ी। दूसरी बार वह वर्ष 2008 के अगस्त में मुख्यमंत्री बने। चार महीने बाद जनवरी 2009 में उनकी सरकार तब गई, जब वह तमाड़ विधानसभा उपचुनाव हार गए। इसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन कायम हो गया।

विधानसभा चुनाव में अठारह सीट हासिल करने के बाद सत्ता की कुंजी फिर से शिबू के हाथ लग गई। उन्होंने चुनाव नतीजे आने के बाद ही घोषणा कर दी कि जो उन्हें मुख्यमंत्री बनाएगा, उसे ही समर्थन देंगे। कांग्रेस तैयार नहीं हुई। भाजपा, जदयू और आजसू ने आगे बढ़कर उनका समर्थन किया। अब बुधवार को मिलीजुली सरकार में शिबू सोरेन जहां मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे वहीं भाजपा के रघुवर दास, आजसू के सुदेश महतो को उपमुख्यमंत्री का दर्जा हासिल होगा। शिबू सरकार में भाजपा के चार, जदयू के एक, आजसू के तीन और शिबू सोरेन के अलावा झामुमो के तीन विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे।

झारखंड के अब तक के मुख्यमंत्री

1. 15 नवंबर [आधी रात] 2000 - बाबूलाल मरांडी

2. 18 मार्च, 2003- अर्जुन मुंडा

3. दो मार्च, 2005- शिबू सोरेन

4. 12 मार्च, 2005- अर्जुन मुंडा

5. 18 सितंबर 2006- मधु कोड़ा

6. 27 अगस्त 2008- शिबू सोरेन

7. 30 दिसंबर 09- शिबू सोरेन तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.