ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

15 अक्तूबर, 2009

पाकिस्तान में ताबड़तोड़ हमले, 40 मृत

पाकिस्तान में आतंक की ताजा कड़ी में तालिबान के संदिग्ध आतंकवादियों ने गुरुवार को लाहौर के तीन सुरक्षा प्रतिष्ठानों में लगभग एक ही समय पर हमले किए और पश्चिमोत्तर कोहाट शहर के एक पुलिस थाने में आत्मघाती हमला किया, जबकि पेशावर शहर में भी एक विस्फोट हुआ। इन हमलों में 40 लोगों की मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि संघीय जाँच एजेंसी (एफआईए) के कार्यालय और लाहौर के दो पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में आतंकवादियों के तीन दों द्वारा स्थानीय समय के मुताबिक सुबह सवा नौ बजे से सुबह के 10 बजकर 40 मिनट के बीच किए गए हमले में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई। इनमें 16 सुरक्षाकर्मी और चार नागरिक शामिल हैं।

सुरक्षाकर्मियों ने 10 हमलावरों को मार गिराया है या उन्होंने खुद को उड़ा लिया। इन सभी हमलों में लगभग 40 लोग घायल हुए हैं।

कोहाट में आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदे एक वाहन से एक पुलिस थाने में टक्कर मार दी, जिससे 11 लोगों की मौत हो गई।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमलावर ने पुलिस थाने के बाहरी दीवार पर टक्कर मारी, जिससे जबरदस्त विस्फोट हुआ।

पुलिस ने बताया कि मृतकों में कुछ पुलिसकर्मी और स्कूली बच्चे भी शामिल हैं। पुलिस थाना बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों के तीन समूहों ने माल रोड के नजदीक टेंपल रोड पर स्थित एफआईए कार्यालय, हवाई अड्डे से लगभग छह किलोमीटर दूर बेदियाँ रोड स्थित एलीट फोर्स पुलिस प्रशिक्षण केंद्र तथा लाहौर के बाहर मानवां पुलिस प्रशिक्षण केंद्र पर हमले किए।

इन हमलों के शुरू होने के लगभग पाँच घंटे बाद लाहौर शहर के पुलिस अधिकारी परवेज राठौर ने बताया कि सुरक्षा बलों ने इन सभी हमलों को नाकाम कर दिया।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में मई से कई आतंकवादी हमले हुए हैं। दरअसल, मई महीने में इसने अशांत पश्चिमोत्तर सीमांत प्रांत में तालिबान के खिलाफ अभियान शुरू किया था।

पाकिस्तानी चैनलों के मुताबिक ‘तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान’ ने लाहौर हमलों की जिम्मेदारी लेने का दावा किया है। घटनास्थल पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एफआईए कार्यालय पर हुए हमले में दो पुलिस निरीक्षक और चार नागरिकों की मौत हो गई।

सुरक्षा बलों ने आत्मघाती जैकेट पहने हुए एक आतंकवादी को मार गिराया। इस घटना में मारे गए लोगों में एक बैंक कर्मचारी भी शामिल है।

इस घटना में मारे गए आतंकवादियों के पास से मेवे के पैकेट मिले हैं। सुरक्षा अधिकारियों ने बताया इससे यह संकेत मिलता है कि उनकी संभवत: बंधक बनाने और इस इमारत में छिपने की योजना थी।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.