ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

26 सितंबर, 2009

एटीएम से निकले रुपयों पर संशय की स्थिति

जाली नोटों के प्रचलन को लेकर पिछले कई दिनों से नवगछिया के लोगों में संशय की स्थिति बनी है। जाली और असली नोटों में फर्क करना इतना कठिन हो गया है कि आम आदमी तो क्या बैंक अधिकारी भी संशय में हैं। जहां एक अधिकारी उसे असली कहकर देते हैं वहीं दूसरा बैंक के अधिकारी उसे लेने से इनकार कर देते हैं। इस परिस्थिति में आम आदमी को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हाल के तीन-चार दिनों से इलाहाबाद बैंक के नवगछिया के कैशियर द्वारा जिस सीरिज के पांच सौ के नोटों को लेने से इनकार कर लौटाया जा रहा है वहीं 4 सीके सीरिज के नोट भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम से भी लोगों को प्राप्त हो रहा है। इलाहाबाद बैंक द्वारा लौटाये जाने के कारण स्टेट बैंक के एटीएम से भी निकले नोटों को लेने से बाजार के लोग हिचक रहे हैं। इस बाबत स्टेट बैंक के कैशियर ने कहा कि मुझे असली-नकली की कोई जानकारी नहीं है। पुन: बाद में कहा कि बैंक द्वारा दिये जा रहे नोट असली हैं, अगर कोई नहीं लेता है तो हम क्या कर सकते हैं।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.