ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

27 सितंबर, 2009

पाकिस्तान 54 रनों से जीता

चैंपियंस ट्रॉफी के ग्रुप ए के अहम मुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 54 रनोहरदियापाकिस्ताशोएमलिउम्दशतक (128) बदौलत 9 विकेखोकर 302 बनाएजवामेभारत 44.5 ओवमें 248 बनसकाराहुद्रविडसर्वाधिक 76 (102 गेंद) बनाए। 128 रनों की पारी खेलने वाले शोएब मलिक को 'मैन ऑफ द मैच' घोषित किया गया।

पाकिस्तातरमोहम्मआमिर, नावेहसन, सईअजमशाहिअफरीदसमारूे 2-2 विकेआपमेबाँटेभारअगलमैच 28 सितम्बऑस्ट्रेलियखेलनहै।

इस अहम मैच में भारतीय टीम खेल के हर भाग में पाकिस्तान से पीछे रही। गौतम गंभीर और राहुल द्रविड़ के रन आउट होने के अलावा निर्णायक मौके पर सुरेश रैना के आउट होने की घटना भारतीय हार का प्रमुख कारण रही। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी और फिर बाद में गेंदबाजी के साथ उम्दा क्षेत्ररक्षण से मैच अपने पक्ष में कर लिया।

गेंदबाजी पर ध्यान देने की जरूरत : भारतीय टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा कि हमें अपनी गेंदबाजी पर बहुत ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने आशीष नेहरा और यूसुफ पठान को धन्यवाद दिया और कहा कि हमें क्षेत्ररक्षण में बहुत ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। धोनी ने यह भी कहा कि अब यह टूर्नामेंट हमारे लिए एक नाकआउट टूर्नामेंट हो गया है और हमें सभी मैच जीतना होंगे।

पाकिस्ताद्वारदिए 303 रनों के विशालक्ष्पीछरने उतरी भारतीय टीम शुरुआअच्छनहीरहीसलामबल्लेबासचितेंडुलकमात्र 8 बनाकमोहम्मआमिगेंकामराअकमहाथोकैआउहुए


प-कप्तागौतगंभीर आतिशी पारी खेलने के बाद दुर्भाग्यपूर्ढंआउगएउमगुगेंद्रविडस्ट्रोखेलनॉस्ट्राइएंगंभीलिदौड़लेकिद्रविडलेनमनकियागंभीवापलौटते, उसकपूर्यूनिखासटीथ्रआउगएगंभीे 57 रनोयोगदादियावक्भारस्कोर 90 था

भारतीसरविकेविराकोहली (16) रूमेगँवायाअफरीदगेंछक्कलगानप्रयामेसीमरेखखड़उमगुहाथोमेकैथमबैठेगुतीसरकोशिमेकोहलकैलपका

कप्तामहेन्द्सिंधोनकाफलेकिअफरीदउन्हें 3 निजस्कोपगबाधआउकरकस्टेडियमेजमभारतीदर्शकोसकतमेडादियाभारचौथविकेट 133 रनोआउहुआ

धोनबामैदायूसुपठान (5) बिनकोकरिश्माप्रदर्शकिलौजबकि सुरेरैनशानदापारखेरहलेकिसईअजमगेंे 46 रनोपगबाधआउगए

भारसबसबड़झटकलगा, जीदरवाजतररहराहुद्रविडहरभजकहनतीसरलेनप्रयामेआउगएउमगुसीधथ्रकामराअकमदस्तानोमेसमायपलझपकतकामराद्रविडआउदियाभारसातवाविकेट 238 रनोपैवेलियलौटा

आरपसिंनावेहसगेंमिडविकेतरछक्कउड़ानप्रयामेमोहम्मयूसुद्वारकैलिगएतरभारत 43वेओवमें 243 मेविकेचुकथाइसओवमेनावेईशांशर्मखातखोलनपहलबोल्दिया। भारहरभजसिंह (13) रूमेअंतिविकेखोयाप्रकाभारतीटीम 44.5 ओवरोमें 248 बनसकी

इससपहलपापारमेशोएमलिक शानदार शतक (128) ठोंककर पाकिस्तान की जीत इबारत पहले ही लिख डाली थी। मलिक दूसरछोमोहम्मयूसुफ ( 87) कभरपूसामिलामलिभारखिलादूसरवनडकरियसातवाशतक थइससपहलउन्होंनकोलंबो (2004) मेभारखिलाफ 143 रनोपारखेलथीमलियूसुबीच चौथे विकेट के लिए निभाई 206 रनोसाझेदारी इस मैदान पर एक रिकॉर्ड है।

पाकिस्तान की शुरुआत अच्छी नहीं रही। सलामी बल्लेबाज इमरान नजीर 20 रन बनाकर आशीष नेहरा की गेंद पर हरभजनसिंह के हाथों कैच आउट हुए। नजीर ने 17 गेंदों पर 4 चौकों की मदद से 20 रन बनाए।

पाकिस्तान के दूसरे सलामी बल्लेबाज कामरान अकमल को भी नेहरा ने बोल्ड करके पैवेलियन की राह दिखाई। अकमल ने 22 गेंदों का सामना करने के बाद 19 रन बनाए। अकमल और यूनिस ने दूसरे विकेट के लिए 24 रन जोड़े।

पाकिस्तान को सबसे बड़ा झटका 15वें ओवर में आरपी सिंह ने उस वक्त दिया, जब उन्होंने कप्तान यूनिस खान को 20 रनों के निजी स्कोर पर धोनी के दस्तानों में झिलवा डाला। आरपी लगातार आउट स्विंग गेंदबाजी कर रहे थे और कोशिश यही थी कि बल्लेबाज गलती करे। यूनिस ने भी गेंद से छेड़खानी की गलती की, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा।

शोएब मलिक और मोहम्मद यूसुफ के बीच 206 रनों की भागीदारी निभाई गई और इसी साझेदारी ने पाकिस्तान को सुरक्षित स्कोर की तरफ अग्रसर किया। यूसुफ जब 87 रनों पर थे, तब आशीष नेहरा ने उन्हें बोल्ड कर दिया। शाहिद अफरीदी (4) कोई कमाल नहीं दिखा सके और यूसुफ पठान की गेंद पर धोनी के दस्तानों में लपके गए। नेहरा ने एक और शिकार उमर कामरान को खाता खोलने के पहले ही विकेट के पीछे झिलवा दिया।

शोएब मलिक ने शानदार बल्लेबाजी का मुजाहिरा किया और किसी भी गेंदबाज पर नरमी नहीं बरती। मलिक 128 रनों की उम्दा पारी खेलने के बाद 49वें ओवर में हरभजन सिंह की गेंद पर यूसुफ पठान द्वारा सीमा रेखाGet Fabulous Photos of Rekha पर लपके गए। मलिक ने अपनी पारी में 16 चौके जमाए।

पारी के अंतिम ओवर में उमर गुल बिना कोई रन बनाए ईशांत की गेंद पर सुरेश रैना के हाथों लपके गए। पाकिस्तान के एक समय 271 पर 4 विकेट गिरे थे और अगले 30 रनों के भीतर उसने 4 विकेट गँवाए।

ईशांत शर्मा ने 50वें ओवर मोहम्मद आमिर को बगैर खाता खोले पैवेलियन भेजा। आमिर का कैच विराट कोहली ने लपका। इस तरह पाकिस्तान ने निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट खोकर 302 रन एकत्र किए।

हरभजन सिंह ने काफी खराब गेंदबाजी की और धोनी की कप्तानी भी समझ से परे थी। कुछ पाइंट ऐसे थे जहाँ से पाक बल्लेबाज लगातार रन ले रहे थे लेकिन भारतीय कप्तान ने वहाँ फील्डर लगाना जरूरी नहीं समझा। भारत की तरफ से आशीष नेहरा ने 4, ईशांत शर्मा ने 2 विकेट लिए।

भारत का यह टूर्नामेंट में पहला मैच है, जबकि पाकिस्तान अपने पहले मैच में वेस्टइंडीज को हरा चुका है। इस मैच में पाकिस्तान टीम में एक परिवर्तन किया गया है। कप्तान यूनिस खान इस मैच में मिस्बाह उल हक के स्थान पर खेल रहे हैं। यूनिस खान अँगुली में चोट के कारण वेस्टइंडीज के खिलाफ नहीं खेल पाए थे।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.