ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

07 अगस्त, 2009

गुलशन बावरा के नाम से मशहूर फिल्म गीतकार गुलशन मेहता (72) का शुक्रवार सुबह यहां पाली हिल स्थित उनके निवास पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे काफी समय से बीमार थे। वे अपना शरीर दान करना चाहते थे इसलिए उसे जेजे अस्पताल को दिया जाएगा। फिल्म उद्योग तथा उनके प्रशंसकों ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है।
गुलशन बावरा ने सदाबहार गीत ‘मेरे देश की धरती सोना उगले.’, ‘खुल्लम खुल्ला प्यार करेंगे..,’, यारी है ईमान मेरा..’ जैसे दर्जनों लोकप्रिय गीत लिखे थे। वे अपने समय के सबसे महंगे गीतकारों में शामिल थे। उन्हें ‘मेरे देश की धरती.’ (उपकार) तथा ‘यारी है ईमान.’ (जंजीर) के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार मिले थे।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.