ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

28 जुलाई, 2009

बिक रहा है महात्मा गाँधी का मकान

महात्मा गाँधी जोहान्सबर्ग के जिस मकान में तीन वर्ष तक रहे थे, उस मकान को बेचा जा रहा है लेकिन इस मकान का अभी तक कोई खरीदार नहीं मिला है और यहाँ के भारतीय मूल के लोग भी इसे खरीदने में बहुत ज्यादा रूचि नहीं दिखा रहे हैं।
मध्य जोहान्सबर्ग के उत्तर में शांत फलोद्यान सड़क पर स्थित इस मकान को महात्मा गाँधी के विश्वासपात्र और वास्तुकार हर्मन कालेनबक ने तैयार कराया था। महात्मा गाँधी वर्ष 1908 से तीन वर्ष तक इस मकान में कालेनबक के साथ रहे थे।
‘टाइम्स’ अखबार के मुताबिक घर की मालकिन नैंसी बॉल यहाँ बीते 25 साल से रह रही है। नैंसी अब कैपटाउन में जाकर बसना चाहती है।
इस ऐतिहासिक विरासत को सहेजने के लिए इच्छुक किसी सुपात्र के नहीं मिलने पर नैंसी ने अब मकान को बेचने का मन बना लिया है। हालाँकि नैंसी ने इस मकान की कीमत का खुलासा नहीं किया है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.