ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

27 जुलाई, 2009

नया आइडिया, मारो नहीं सूई लगाओ

वाहन लूट कांड के अनुसंधान में सूई के प्रयोग से पुलिस भी हतप्रभ है। दरअसल अपराधियों ने चालक- खलासी को सूई लगाकर बेहोश कर दिया और वाहन लेकर चंपत हो गये। सूई लगाने वाला मो. छोटू नवगछिया में प्रिंस बीयर के नीचे कपड़ा सीने की दुकान चलाता है। उसके पिता मो. अब्बास शहर के नामी टेलर मास्टर हैं। मो. छोटू से पुलिस इस बात को लेकर पूछताछ कर रही है आखिरकार उसे ये आइडिया कहां से आया कि चालक- खलासी को सुई दी जाए। एक हाथ में पिस्टल व एक हाथ मे सूई देने वाली सीरिंच। चालक व खलासी ने बताया कि उसे बांह में सूई दी गई। शनिवार रात दो बजे ही भागलपुर पुलिस ने इस कांड के लिए अपना जाल बिछा दिया था। बारह घंटे में पूरा मामला सामने आ गया। एक-एक कर लूट कांड का राज निकल आया। मनचल ने बताया कि शुक्रवार को बारह बजे रात में मो. छोटू व अन्य लाल रंग की विक्टा लेकर उसे लेने घर पर आए। पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि आखिर किराये पर ली गई भिक्टा किसकी थी। गिरफ्तार सभी लोग खाते-पीते परिवार से है। लतरा निवासी प्रवीण यादव के साथ अपने पड़ोस के व्यवसाई के मुंशी के बैंक से लौटते समय लूटपाट की योजना बनाने वाले मो. छोटू जेल जाने के बाद अपराध की दुनिया में उतर आया। तत्कालीन नवगछिया थानाध्यक्ष संजय विश्र्वास ने लूट के बाद अपराधियों की एक छूटी मोबाइल की निशानदेही पर मो. छोटू को गिरफ्तार किया था। ट्रक लूट होने के बाद कटिहार पुलिस को यह बात पता लगाने में जरा भी समय नहीं लगा की घटना को अंजाम देने वाले अपराधी पड़ोसी जिला नवगछिया के होंगे। पुलिस को इस बात का पता था कि नवगछिया के ऐसे लुटेरे गिरोह नवगछिया में पुलिस के भय से नेशनल हाइवे पर अपराध को अंजाम नहीं देते हैं। इसके लिए वह पड़ोसी जिले में जाकर लूट करते हैं, ताकि पुलिस उन तक नहीं पहुंच पाए।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.