ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

12 जून, 2009

कटे हाथ बाधक नहीं बनेंगे

अब मोनी फिर से पढ़-लिख सकेगी, कटे हाथ बाधक नहीं बनेंगे। गुरुवार को आयुर्वेदिक एवं प्राकृतिक मुफ्त चिकित्सा शिविर के उद्घाटन के दौरान गुहार लेकर पहुंची मोनी कुरैशी से सैय्यद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि यह अब मेरी बेटी है और सबसे पहले इसके कृत्रिम हाथ बनवाए जाएंगे। ज्ञात हो कि एक हादसे में मौनी कुरैशी के दोनों हाथ कट गए थे। गरीब पिता हसी इमाम कुरैशी अपनी बेटी के लिए कुछ कर नहीं पाए। पिता ने कहा कि सांसद के आश्वासन के बाद मेरी बेटी की जिंदगी में बहार आ गई है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.