ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

03 जून, 2009

सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष बनी मीरा कुमार


भारतीय लोकतंत्र का नया इतिहास रचते हुए लोकसभा ने मंगलवार को सर्वसम्मति से एक महिला मीरा कुमार को अपना अध्यक्ष चुना।

सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ओर से मीरा कुमार को सदन का अध्यक्ष चुने जाने के लिए प्रस्ताव पेश किए गए जिसे सदन से सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया।

मीरा कुमार के औपचारिक रूप से इस पद पर चुने जाने के पश्चात प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सदन के नेता प्रणव मुखर्जी तथा विपक्ष के नेता लालकृष्ण आडवाणी सम्मानपूर्वक उन्हें अध्यक्ष के आसन तक लेकर गए। दलगत राजनीति से ऊपर उठकर पूरे सदन ने अध्यक्ष पद के लिए उनका समर्थन किया।

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा भाजपा के लालकृष्ण आडवाणी तृणमूल कांग्रेस की ममता बनर्जी द्रमुक के टी आर बालू बीजद के अर्जुन चरण सेठी जद यू के शरद यादव सपा के मुलायम सिंह राजद के लालू प्रसाद राकांपा के शरद पवार नेशनल कांफ्रेंस के फारुख अब्दुल्ला और मुस्लिम लीग के ई अहमद ने भी मीरा कुमार के समर्थन में प्रस्ताव पेश किए। बाद में सदन के अस्थाई अध्यक्ष माणिक राव गावित ने सोनिया गांधी के प्रस्ताव के बारे में सदन से अनुमति चाही और उसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया।

विधि स्नातक और अंग्रेजी में मास्टर डिग्री प्राप्त मीरा को 1973 में भारतीय विदेश सेवा के लिए चुना गया था। उन्होंने स्पेन, ब्रिटेन और मारीशस के दूतावासों में अपनी सेवाएं दी। वह भारत-मारीशस संयुक्त आयोग की सदस्य भी रहीं।

मृदु भाषी मीरा 1985 में उत्तर प्रदेश की बिजनौर संसदीय सीट से लोकसभा सदस्य चुनी गई थीं। वह दिल्ली की करोलबाग सीट से 1996 और 1998 में सांसद चुनी गईं लेकिन 1999 के चुनाव में वह अपनी सीट हार बैठीं। वर्ष 2002 में मीरा कुमार बिहार की सासाराम संसदीय सीट से लोकसभा सदस्य चुनी गईं और उन्हें केंद्र में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री बनाया गया। सासाराम उनके पिता का निर्वाचन क्षेत्र था।

मीरा कुमार वर्ष 1990 से 1992 तक कांग्रेस की महासचिव रहीं। इसके बाद वह 1996 से 1998 तक फिर इस पद पर रहीं। वह 1990 में पहली बार कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की सदस्य बनाई गईं और 2000 तक सदस्य बनी रहीं। दो साल के अंतराल के बाद 2002 में वह फिर से कांग्रेस कार्यकारिणी में शामिल हुर्इं और 2004 तक सदस्य बनी रहीं।

मीरा का जन्म 31 मार्च 1945 को पटना में हुआ था। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के इंद्रप्रस्थ कालेज और मिरांडा हाउस में शिक्षा हासिल की। उन्होंने स्पैनिश भाषा में एडवांस्ड डिप्लोमा भी किया था। राइफल निशानेबाजी के लिए पदक प्राप्त कर चुकी मीरा कुमार ने विधि की डिग्री ली है। वह 1980 में सुप्रीम कोर्ट बार एशोसिएशन की सदस्य बनीं।

उनकी शादी सुप्रीम कोर्ट के एक वकील मंजुल कुमार के साथ हुई थी। इस दंपत्ति की तीन संतानें हैं।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.