ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

05 मई, 2009

चीनी मोइबाल धारकों के लि‍ए खुशखबरी

चाइना मेड मोबाइलों के यूजर जिनके पास 15 अंकों का इंटरनेशन मोबाइल इक्विपमेंट आयडेंटिटी नंबरआईएमईआई) नहीं हैं, अब 180 रु. देकर यह नंबर प्राप्त कर सकते हैं। टेलीकॉम विभाग ने पहले सभी टेलीकॉमऑपरेटरों को ऐसे मोबाइलो को सेवाएँ देने से रोक दिया था जिनके पास आईएमईआई नंबर नहीं थे।
स्थानीय तौर पर असेंबल कराए गए या चीन से मँगाए गए कई मोबाइलों में आईएमईआई नंबर नहीं थे जिससेफोन के यूजर की लोकेशन का पता चलता है। यह नंबर सुरक्षा की दृष्टिसे जरूरी होते हैं। पिछले वर्ष हुए बमविस्फोटो की जाँच में पता चला था किआतंकवादियों द्वारा बिना आईएमईआई नंबर वाले हैंडसेट उपयोग कि गएथे। इसीलि टेलिकॉम विभाग ने बिना आईएमईआई नंबर वाले मोबाइलों के उपयोग पर रोक लगा दी थी।
लेकि अब जीएसएम ऑपरेटरों के संगठन सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया और मोबाइल स्टेंडर्सएलायंस ऑफ इंडिया द्वारा बनाए गए सॉफ्टवेयर से इन मोबाइलों के यूजर्स सही आईएमईआई नंबर ले सकते हैंऔर अपने फोन् का उपयोग कर सकते हैं।
‍‍‍‍

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.