ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

12 जुलाई, 2012

आसाम से दिल्ली जा रहा प्रीतम नवगछिया से लापता, प्राथमिकी दर्ज

एसपी की घोषणा -- सूचना देने वाले को मिलेगा उचित इनाम
अवध असम एक्सप्रेस से गोहाटी से दिल्ली जा रहे 25 वर्षीय प्रीतम भट्टाचार्य के नवगछिया में गुम हो जाने का एक मामला गुरूवार को नवगछिया रेल थाने में युवक के चाचा राम मोहन भट्टाचार्य ने दर्ज कराया है।प्रभारी रेल एसपी प्रयाग सरकार ने बताया कि आठ जुलाई को अवध असम एक्सप्रेस की स्लीपर एस-10 बोगी की बर्थ संख्या 36 पर असम के सिलचर निवासी शंकर भट्टाचार्य के पुत्र प्रीतम भट्टाचार्य (25) दिल्ली जा रहा था। नौ जुलाई को नवगछिया स्टेशन पर ट्रेन पहुंचने पर दो यात्री उसका बैग छीन कर उतर गए। उसने उनका पीछा किया। इस बीच ट्रेन खुल गयी। नवगछिया स्टेशन पर उसने चाय भी पी। नौ जुलाई को इस घटना की सूचना उसने परिजनों को दिन में 12.50 बजे दी। इसी तिथि को दिन के 3.50 बजे से उसका मोबाइल बंद हो गया। दिल्ली जेएनयू में अंतरवीक्षा देने जा रहे अपने भतीजे की खोज में पहुंचे राम मोहन भट्टाचार्य की शिकायत पर नवगछिया थाने में प्राथमिकी संख्या 9/12 दर्ज की गई है। नवगछिया एसपी एवं रेल एसपी कटिहार के द्वारा लापता युवक प्रीतम भट्टाचार्य की खोजबीन की जा रही है। इस मामले में नवगछिया एसपी ने बताया कि प्रीतम की खोज में नवगछिया पुलिस जिला के पुलिस की कई टीम बना कर इस कार्य में लगाया गया है। जिसे लेकर गुरूवार को भी कई क्षेत्रों में सघन छापेमारी की गयी है। इसके साथ ही यह भी कहा कि प्रीतम के बारे में किसी भी प्रकार की सूचना देने वाले को उचित इनाम भी दिया जाएगा।
इधर प्रीतम की खोज में उसके चाचा राम मोहन भट्टाचार्य के अलावा मामा किंग सुक भट्टाचार्य, फूफा केके पुरकायस्थ, चचेरा भाई पुष्पक भट्टाचार्य भी नवगछिया पहुँच गए हैं। जानकारी के अनुसार प्रीतम के पिता शंकर भट्टाचार्य आसाम स्थित सिलचर के महिला कालेज के सेवा निवृत प्राचार्य हैं। प्रीतम एमएससी करने के बाद दिल्ली में पीएचडी की तैयारी में लगा है। जिसके एक शोध कार्य हेतु वह दिल्ली जा रहा था। रास्ते में ही नवगछिया स्टेशन से लापता हो गया।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.