ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

19 सितंबर, 2009

शहीद के परिजनों को मुआवजे का इंतजार

बटला हाउस मुठभेड़ में शहीद हुए दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर मोहनचंद शर्मा के परिजनों को मुठभेड़ के एक साल बाद भी मुआवजे की रकम का इंतजार है।

शहीद शर्मा के वायोवृद्ध पिता नरोत्तम शर्मा ने कहा कि मैंने सभी अधिकारियों से मुलाकात की, कहाँ-कहाँ नहीं गया, लेकिन हमें कुछ नहीं मिला। मुंबई हमले के बाद सभी पीड़ित परिजनों ने सरकारी सहायता प्राप्त की, लेकिन मुझे कुछ नहीं मिला। पिछले साल 19 सितंबर को बटला हाउस में हुई मुठभेड़ में एनकाउंटर विशेषज्ञ शर्मा को एक कथित आतंकवादी ने गोली मार दी, जिससे उनकी मौत हो गई। मुठभेड़ में इंडियन मुजाहिदीन के दो कथित आतंकवादी भी मारे गए थे।

शहीद शर्मा की माँ देवेन्द्री देवी ने कहा कि मैं अपने बेटे की कमी महसूस करती हूँ, लेकिन उसके बलिदान पर मुझे गर्व है।

हालाँकि एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया शहीद शर्मा की पत्नी माया की एकमुस्त 25 लाख रुपए देने का आवेदन दिल्ली सरकार के समक्ष प्रक्रियागत है। शहीद शर्मा की पहली बरसी के मौके पर आतंकवाद निराधी मंच के अध्यक्ष एमएस बिट्टा ने इस तरह के मामले को देखने के लिए एक समन्वय समिति बनाने की माँग की थी।

बिट्टा ने कहा कि क्या आप यह चाहते हैं कि यह बुजुर्ग दंपति जाएँ और अपने अधिकार की माँग करें। यह सरकार का काम है। इस तरह के मामले को देखने के लिए मैं सरकार से एक समन्वय समति के गठन करने की गुजारिश करता हूँ।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.