ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

12 सितंबर, 2009

श्रीलंका ने भारत को 139 रनों से हराया

कोलंबो में हो रही त्रिकोणीय श्रृंखला के तीसरे मैंच में श्रीलंका ने भारत 139 रनों के भारी अंतर से हरा दिया है. इस तरह भारतीय टीम के सिर से नंबर एक का ताज भी छिन गया है. श्रीलंका की ओर से दिए गए 308 रनों के विशाल स्‍कोर का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के बल्‍लेबाज श्रीलंकाई गेंदबाजी के आगे ताश के पत्तों की तरह बिखर गए.

राहुल द्रविड़ को छोड़कर कोई भी भारतीय बल्‍लेबाज श्रीलंकाई गेंदबाजों का सामना ज्‍यादा देर तक नहीं कर सका. भारतीय पारी की शुरुआत कुछ खास नहीं रही. सलामी बल्‍लेबाज दिनेश कार्तिक ने एक बार फिर निराश किया और केवल 16 रन बनाकर आउट हो गए. उस समय भारत का स्‍कोर केवल 32 रन था. मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर भी अपने हाथ नहीं दिखा सके और कुलशेखरा की गेंद पर मेंडिस को कैच दे बैठे. उसके बाद राहुल द्रविड़ ने युवराज सिंह के साथ मिलकर पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन जल्‍दी ही युवराज सिंह के बल्‍ले ने भी उन्‍हें धोखा दे दिया और मलिंगा ने उन्‍हें चलता कर दिया. युवराज ने 16 रन बनाए.

उसके बाद तो जैसे विकेटों की झड़ी लग गई. युवराज सिंह के आउट होने के बाद बल्‍लेबाजी करने आए सुरेश रैना अपना खाता भी नहीं खोल सके. एंजेलो मैथ्यूज ने रैना को पहली ही गेंद पर चलता कर दिया. अब सारी उम्‍मीदें कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी पर टिकी थी लेकिन उन्‍होंने भी निराश किया और केवल 8 रन बनाकर आउट हो गए. धोनी के आउट होते ही यूसुफ पठान भी तू चल मैं आया की तर्ज पर चलते बने. पठान ने केवल एक रन बनाया. उसके बाद भारत के बाकी बचे बल्‍लेबाज किसी तरह से टीम के स्‍कोर को 168 रनों तक ले गए. भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवर खेल भी नहीं सकी. श्रीलंका की ओर से एंजेलो मैथ्‍यूज ने घातक गेंदबाजी की और भारतीय टीम की कमर तोड़ दी. मैथ्‍यूज ने 6 ओवर की अपनी गेंदबाजी में केवल 20 रन देकर 6 विकेट झटके.

श्रीलंका की पारी
श्रीलंका ने भारत के सामने जीत के लिए 308 रनों का पहाड़ जैसा लक्ष्‍य रखा है. निर्धारित 50 ओवरों में मेजबान टीम ने 6 विकेट खोकर 307 रन बनाए. श्रीलंका की पारी में सलामी बल्‍लेबाज सनत जयसूर्या और कांडाम्बी का महत्‍वपूर्ण योगदान रहा. जयसूर्या जहां केवल दो रनों से अपने शतक से चूक गए वहीं काडंबी ने भी शानदार 91 रन बनाए और नाबाद रहे.

टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करने उतरी श्रीलंकाई टीम की शुरुआत अच्‍छी रही. दोनों सलामी बल्‍लेबाजों दिलशान और जयसूर्या ने अपनी टीम को मजबूत आधार दिया. हालांकि जब टीम का स्‍कोर 57 रन था तब दिलशान आउट हो गए. श्रीलंकाई टीम को ईशांत शर्मा ने पहला झटका दिया. ईशांत ने तिलकरत्‍ने दिलशान को 23 रन के व्‍यक्तिगत स्‍कोर पर धोनी के हाथों कैच आउट कराया. उसके बाद जयसूर्या का साथ देने महेला जयवर्द्धने मैदान में आए. जयवर्द्धने कुछ खास नहीं कर सके और 17 रन बनाकर पठान की गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी द्वारा स्‍टंप कर दिए गए.

उसके बाद बल्‍लेबाजी करने कुमार संगाकारा आए लेकिप इससे पहले कि संगाकारा अपने हाथ दिखा पाते हरभजन सिंह ने उन्‍हें चलता कर दिया. संगाकारा 5 रन बनाकर पगबाधा आउट हो गए. संगाकार के बाद जयसूर्या आउट हुए. एक समय ऐसा लग रहा था कि जयसूर्या अपना शतक पूरा कर लेंगे लेकिन महज दो रन पहले आशीष नेहरा ने उन्‍हें पगबाधा आउट कर उनके अरमानों पर पानी फेर दिया. अपनी शानदार पारी में जयसूर्या ने 13 चौके लगाए.

श्रीलंका का पांचवां विकेट एंजेलो मैथ्यूज के रूप में गिरा. मैथ्‍यूज ने 19 रन बनाए. उन्‍हें रैना की गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने स्‍टंप कर दिया. छठे विकेट के रूप में कपुगेडेरा 36 रन के स्‍कोर पर रन आउट हो गए.

भारत की ओर से आशीष नेहरा, इशांत शर्मा, यूसुफ पठान, हरभजन सिंह और सुरेश रैना को एक एक विकेट मिला. भारत ने शुक्रवार को न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराने वाली टीम में कोई बदलाव नहीं किया है. श्रीलंकाई टीम में तिलन समरवीरा की जगह चामरा कापूगेदारा को शामिल किया गया है.

दोनों टीमें इस प्रकार हैं:

श्रीलंका:
तिलकरत्ने दिलशान, सनत जयसूर्या, महेला जयवर्द्धने, कुमार संगकारा, एंजेलो मैथ्यूज, चमारा कापुगेडेरा, टी. कांडाम्बी, केएमडीएन कुलासेकरा, थिलन तुषारा, लसिथ मलिंगा, अजांता मेंडिस.

भारत: सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़, हरभजन सिंह, आशीष नेहरा, युवराज सिंह, दिनेश कार्तिक, एम.एस.धोनी, सुरेश रैना, आरपी सिंह, इशांत शर्मा, यूसुफ पठान

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.