ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

15 सितंबर, 2009

कड़ी सुरक्षा के बीच बिहार के 11विधानसभा क्षेत्रों में मतदान

बिहार के 11 विधानसभा क्षेत्रों में कडी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज मतदान हो रहा है. बिहार विधानसभा की जिन सीटों पर आज मतदान हो रहा है उनमें बगहा, नौतन, बेगूसराय, त्रिवेणीगंज, सिमरी, बख्तियारपुर, अररिया, धोरैया, मुंगेर, फुलवारी, घोषी और बोधगया शामिल हैं.

सुरक्षा बलों की तैनाती
राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने बताया कि चुनाव शांतिपूर्ण और निष्पक्ष ढंग से संपन्न कराने के लिए केंद्र की ओर से पर्याप्त संख्या में सीमा सुरक्षा बल केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, भारत तिब्बत सीमा पुलिस, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल और सशस्त्र सीमा बल की टुकडियां उपलब्ध करायी गयी हैं. उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त सभी मतदान केंद्रों पर केंद्रीय अर्धसैनिक बल जिला सैन्य बल बिहार सैन्य और विशेष कार्यबल की तैनाती सुनिश्चित की गयी है और चुनाव के दौरान अवांछित तत्वों पर पुलिस कडी नजर रख रही है.

35 निर्दलीय उम्‍मीदवार भी मैदान में
बिहार विधानसभा की 11सीटों के लिए कराए जा रहे उपचुनाव के लिए कुल 2621 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जहां 25 लाख 15 हजार 474 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर कुल 99 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. इन 99 उम्मीदवारों में नौ महिला और 35 निदर्लीय उम्मीदवार भी शामिल हैं.

11 सीटों पर हो रहे हैं चुनाव
सुबह सात बजे से शुरू हुए मतदान का कार्य नक्सल प्रभावित बगहा, धोरैया, घोषी और बोधगया विधानसभा सीटों पर अपराह्न तीन बजे समाप्त हो जाएगा जबकि अन्य विधानसभा क्षेत्रों में यह शाम चार बजे तक जारी रहेगा. बिहार विधानसभा की इन 11 सीटों पर प्रदेश में सत्ताधारी राजग गठबंधन में शामिल जद यू और भाजपा ने आपसी तालमेल से क्रमश: 8 सीटों तथा 3 सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं. जद यू ने बगहा, नौतन, त्रिवेणीगंज, सिमरी, बख्तियारपुर, धुरैया, मुंगेर, फुलवारी एवं घोषी की सीटों पर और भाजपा ने बेगूसराय, अररिया और बोधगया की सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं.

कांग्रेस अकेले मैदान में
इस उपचुनाव में कांग्रेस ने अकेले चुनाव लड़ने का मन बनाया है और अपने बलबूते सभी 11 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं. प्रदेश का प्रमुख विरोधी गठबंधन राजद-लोजपा आपसी तालमेल के साथ क्रमश: 7 सीटों और चार सीटों पर चुनाव लड़ रहा है. राजद ने बगहा, नौतन, फुलवारी, धुरैया, मुंगेर, सिमरी, बख्तियारपुर और घोषी से तथा लोजपा ने बोधगया, बेगूसराय, अररिया और त्रिवेणीगंज सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं.

वामदलों ने भी उतारे उम्‍मीदवार
वहीं वामदलों में से भाकपा ने चार सीटों धुरैया, सिमरी, बख्तियारपुर, बोधगया और नौतन पर माकपा ने तीन सीटों बेगूसराय, घोषी और त्रिवेणीगंज पर तथा भाकपा माले ने चार सीटों घोषी, फुलवारी, त्रिवेणीगंज और बगहा पर अपने-अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं. मायावती की पार्टी बसपा ने इन 11 सीटों में से एक सीट नौतन पर अपना उम्मीदवार खडा किया है.

10 सीटों पर था सत्ताधारी पार्टी का कब्‍जा
बिहार विधानसभा की इन 11 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में प्रदेश में सत्ताधारी राजग गठबंधन की दोनों पार्टियां जदयू एवं भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है क्योंकि इन सीटों में से 10 सीटों पर पिछले चुनाव में उनके विधायक विजयी हुए थे. इन सीटों में से बगहा, नौतन, घोषी, त्रिवेणीगंज, सिमरी, बख्तियारपुर, मुंगेर और धुरैया जदयू के पास बेगूसराय, अररिया और बोधगया भाजपा के पास और फुलवारी राजद के कब्जे में थी.

जीत का सिलसिला जारी रखना चाहेंगे नीतीश
हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में अपनी जीत से उत्साहित राजग इस उपचुनाव में भी अपने इस सिलसिले को जारी रखना चाहेगी. उसके लिए प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले बिहार विधासभा चुनाव को देखते हुए यह उपचुनाव इसलिए भी और अधिक महत्व रखता है क्योंकि इस चुनाव परिणाम से यह परिलक्षित होगा कि वर्तमान राजग सरकार के चार साल के कार्यकाल के दौरान उसके द्वारा किए गए कार्यों के बारे में लोगों की क्या धारणा बनी है. हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में भारी हार का सामना कर चुके राजद-लोजपा गठबंधन ने इस विधानसभा उपचुनाव में अपनी साख को बचाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.