ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

28 अगस्त, 2009

तीसरी बार बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष बनीं मायावती

लगातार तीसरी बार सर्वसम्मति से बसपा प्रमुख मायावती को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया है। यहां पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में यह निर्णय लिया गया। इसके तत्काल बाद मायावती ने महंगाई के खिलाफ विभिन्न राज्यों में अलग-अलग तारीखों में आन्दोलन चलाने की घोषणा की। उन्होंने पार्टी सदस्यता शुल्क की राशि बढ़ाकर 40 रुपये किये जाने तथा अपने जन्मदिन पर लिए जाने वाले चंदे को अगले वर्ष से समाप्त करने और हर वर्ष एक जनवरी से 31 मार्च तक विशेष सदस्यता अभियान चलाये जाने का ऐलान किया।अपने आवास पर आयोजित पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी एवं अधिवेशन की अध्यक्षता खुद मायावती ने की।
उन्होंने बसपा को इतनी सफलता दिलाने के लिए कार्यकर्ताओं का आभार जताया। सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय की नीति को पूरे देश में जागृत करने की आवश्यकता भी जतायी। मायावती ने कहा कि 18 सितम्बर 2003 को उनके पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद से पार्टी ने कई अभूतपूर्व सफलताएं हासिल की। उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाना भी इसमें शामिल है। उन्होंने कहा कि ऐसी ही सफलता अब महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनावों में मिल सकती है। इसलिए दोनों राज्यों के पार्टी नेता इन चुनाव में जी-जान से जुट जाएं। मायावती ने प्रदेश के पार्टी कोआर्डिनेटरों को अपने काम में सुधार लाने को कहा। प्रदेश में गत दिनों हुए उप चुनावों में तीन सीटों पर मिली जीत के लिए उन्होंने नेताओं की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में बसपा को सर्वसमाज का समर्थन मिला।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.