ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

19 जुलाई, 2009

भरतपुर में भी पंचायत का तुगलकी फरमान

समगोत्रीय प्रेमी युगल का विवाह बंधन में बंधना गांव की पंचायत को इतना नागवार गुजरा कि दोनों के खिलाफ मौत का फरमान जारी कर दिया। प्रेमी के माता-पिता को भी गांव से बाहर निकल जाने का आदेश दिया है। इतना ही नहीं दोनों को मारने वाले को एक लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। इस इनाम की घोषणा युवती के ताऊ ने खुद की है। प्रेमी युगल ने किसी तरह जान बचाकर अदालत में इस्तगासा दायर कर आपबीती बताई।

घटना राजस्थान में भरतपुर जिले पैंगोर गांव की है। यहां की निवासी पिंकी और उमेश ने 14 अप्रैल को हिंदू रीति-रिवाज से पंजाब के पठानकोट जाकर विवाह कर लिया था। इसके बाद दोनों अपने-अपने घर जाकर रहने लगे। इस बीच पिंकी की शादी हरियाणा के पलवल जिले में किसी से तय कर दी गई। तारीख रखी गई पांच मई। इस बीच पिंकी और उमेश चार मई को घर से भाग गए। इसके बाद इन लोगों ने परिजनों को बताया कि वे लोग शादी कर चुके हैं। पिंकी के परिजनों की ओर से पुलिस में उमेश के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई गई। इस पर पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया।

इस्तगासे में कहा गया है कि हिरासत में लेने के बाद दोनों को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें रिहा करने के आदेश दिए गए। पुलिस ने पिंकी को तो छोड़ दिया। लेकिन उमेश को अवैध रूप से हिरासत में रखकर मारा पीटा। इस्तगासे में बताया गया है कि कुम्हेर के थाना प्रभारी परमाल सिंह गुर्जर भी उन्हें मारने की योजना बना रहे हैं। यही नहीं उन्होंने उनके खिलाफ कई गलत मुकदमे भी दर्ज कर दिए हैं। अदालत ने इस्तागासे के आधार पर थाना प्रभारी सहित 32 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.