ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

20 जुलाई, 2009

एक हजार तीर्थयात्रियोंको सही-सलामत निकला गया

उत्तराखंड में बद्रीनाथ की यात्रा के दौरान करीब 11 हजार श्रद्धालु अब भी फंसे हुए हैं. इन लोगों को निकालने की कोशिशें की जा रही हैं. बद्रीनाथ से 20 किलोमीटर दूर लामबगड़ में बना पुल बादल फटने से नदी में बह गया. ऋषिकेष-बद्रीनाथ राजमार्ग पर बने पुल के बह जाने से भगवान के दर्शन कर वापस आ रहे करीब 12 हजार श्रद्धालु बद्रीनाथ में ही फंस गए. इनमें से एक हज़ार को वहां से सही-सलामत निकाल लिया गया है. इन तीर्थयात्रियों को दूसरे रास्ते के ज़रिए बाहर निकाला गया. बाक़ी फंसे तीर्थयात्रियों को भी अब इस रास्ते से निकालने की कोशिश की जा रही है.
चमोली जिला प्रशासन का कहना है कि वो सेना की मदद से नदी में कच्चा पुल का निर्माण कर सभी तीर्थयात्रियों को ऋषिकेष भेजने का प्रबंध करेगा. लेकिन ये तभी संभव है जब नदी में पानी का बहाव कम हो. रात में बारिश के चलते राहत काम में बाधा पड़ी है. प्रशासन का कहना है कि जरूरत पड़ने पर बद्रीनाथ में फंसे तीर्थयात्रियों को वहां से निकालने के लिए हेलीकॉप्टरों की भी मदद ली जा सकती है.

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.