ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

07 मई, 2009

डीएम से शिकायत के बाद मिल रही थी धमकी

बिहपुर प्रखंड का हरिओ गांव गुरूवार की दोपहर में एक बार फिर खूनी वारदात से दहल उठा है। अपराधियों ने दिनदहाड़े घर में आराम कर रहे मां और बेटे को गोलियों से भून डाला। इस घटना से गांव के लोग भयाक्रांत हो गए हैं। अनुमंडलीय अस्पताल नवगछिया में शाम के समय जब मृतक मंटु सिंह व उसकी मां जानकी उर्फ जीवा देवी की लाश पोस्टमार्टम के लिए पहुंची तो वहां भी परिजनों की रोने की आवाज व चीख थमने का नाम नहीं ले रही थी। खून से सने शव को देख पुलकित सिंह जहां अपनी पत्‍‌नी व बेटे का शव देखकर विलख रहे थे तो वहीं उनकी बेटियां शीला कुमारी, भीला कुमारी, उषा कुमारी, खुशबू कुमारी व अन्य रिश्तेदार जार-जार रो रहे थे। मंटू सिंह के पिता पुलकित सिंह लाश के पास आने वाले हर से कह रहा था देखिए कितनी बेदर्दी से हमारे बेटे व पत्‍‌नी की शरीर को बदमाशों ने गोलियों से छलनी कर दिया है। दोपहर बारह बजे जिस समय घटना घटी उस समय पुलकित सिंह घर से काफी दूर खेती के काम में जुटे हुए थे। जैसे ही उसे घटना की सूचना मिली सूचना मिली वे नंगे पांव घर पहुंचे। उनका कहना है कि जब उन्होंने पुत्र रामगुलाम सिंह के अपहरण की शिकायत प्रशासन आपके द्वार कार्यक्रम में डीएम से की थी तभी से अपराधी उसे उसके परिवार का सफाया करने की धमकी दे रहे थे। डीएम ने उनके आवेदन पर तत्काल एसपी को प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया था और उनके लापता बेटे की अपहरण पश्चात हत्या कर लाश गायब करने की प्राथमिकी थाने में दर्ज की गई थी। दर्ज प्राथमिकी में निरंजन सिंह गिरोह के सदस्यों को नामजद आरोपी बनाया गया था। बीते साल जुलाई माह में उनके बेटे रामगुलाम की हत्या निरंजन सिंह द्वारा सुरेन्द्र सिंह,गिरीश सिंह, इंदल सिंह व सचिदानंद सिंह के साथ मिलकर करने का आरोप है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.