ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

01 सितंबर, 2009

ममता से मिले नीतीश लालू पर साधा निशाना


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रेलमंत्री ममता बनर्जी और स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद से मुलाकात कर राज्य की शिथिल रेल एवं स्वास्थ्य परियोजनाओं का मुद्दा उठाया। इस बीच नीतीश ने पूर्व रेलमंत्री व राजद प्रमुख लालू प्रसाद पर निशाना साधा और कहा उनके समय में बिहार में किसी रेल परियोजना पर काम नहीं हुआ। सोमवार को जदयू की राष्ट्रीय परिषद में हिस्सा लेने के बाद नीतीश कुमार शाम को रेलमंत्री ममता बनर्जी से मिलने रेल भवन पहंुचे। वहां दोनों के बीच एक घंटे तक गुफ्तगूहुई। माना जाता है कि इसमें नीतीश कुमार ने रेलमंत्री के रूप में अपने अनुभवों को ममता के साथ शेयर किया। साथ ही ह्वाइट पेपर के सिलसिले में कुछ महत्वपूर्ण टिप्स दी। मुलाकात के बाद नीतीश कुमार ने लालू का नाम लिए बगैर जिस तरह उन पर हमला बोला उससे भीतर की बात बाहर आ गई। नीतीश ने कहा कि पिछले पांच सालों में रेलवे में बड़ा गंदा काम हुआ। हमारे बड़े भाई ने बिहार में कोई काम नहीं किया। रेलवे की एक भी परियोजना आगे नहीं बढ़ी। अब ह्वाइट पेपर में सब सामने आ जाएगा। नीतीश के मुताबिक ममता ने बिहार समेत सभी रेल परियोजनाओं के क्रियान्वयन और निगरानी के लिए एक मैकेनिज्म बनाने का उनका सुझाव मान लिया है। इसके अलावा पटना-दीघा की पुरानी बेकार रेल लाइन को उखाड़कर उसकी जगह सड़क बनाने का प्रस्ताव भी स्वीकार कर लिया गया है। यह जमीन अब रेलवे राज्य सरकार को दे देगी। बदले में राज्य सरकार रेलवे को कहीं और जमीन उपलब्ध कराएगी। ममता से मिलने के बाद नीतीश कुमार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद से भी मिले। यहां उन्होंने सबसे पहले पटना में केंद्र द्वारा बनाए जा रहे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का मसला उठाया। उन्होंने आजाद से कहा कि एम्स छात्रावास से पहले अस्पताल की बिल्डिंग बननी चाहिए। वह ज्यादा जरूरी है। स्वास्थ्यमंत्री ने इससे सहमति जताई और भरोसा दिया कि अस्पताल पर जल्द काम शुरू होगा। आजाद ने नीतीश की बिहार में एक पैरा मेडिकल इंस्टीट्यूट बनाने की मांग को भी मान लिया है।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.