ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

31 अगस्त, 2009

स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 103 पहुंची


देश में एच 1 एन 1 का संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है और चार और लोगों के इस बीमारी से मरने के साथ ही इससे मरने वालों का आंकड़ा 100 के पार हो गया. इस बीमारी से अब तक 103 जानें जा चुकी हैं. पुणे में सोमवार को 42 वर्षीय विलास पंडाले और 26 वर्षीय अनिल निकम, बैंगलोर में 28 साल के एक ड्राइवर तथा उत्तराखंड में एक महिला की मौत हो गयी.
पुणे में कम नहीं हो रहा स्‍वाइन फ्लू का प्रकोप
महाराष्ट्र के पुणे शहर में स्वाइन फ्लू का प्रकोप कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है. जिले में इस महामारी से दो और लोगों की मौत हो गयी है, जिसके साथ ही अकेले इस शहर में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 31 हो गई. अस्पताल सूत्रों ने बताया कि 42 वर्षीय विलास पंडाले और 26 वर्षीय अनिल निकम की रविवार देर रात अलग-अलग निजी अस्पताल में मृत्यु हो गयी. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रविवार को जिले में स्वाइन फ्लू के करीब 60 संदिग्ध लोगों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है जिनमें से 15 की हालत गंभीर बनी हुई है.
कर्नाटक में अब तक 26 की मौत
बैंगलोर में सोमवार सुबह 28 साल के एक ड्राइवर की स्वाइन फ्लू से मौत होने के साथ ही कर्नाटक में इस रोग से मरने वालों की संख्या बढ़कर 26 हो गयी है. राज्य के राजीव गांधी इंस्टिट्यूट आफ चेस्ट डिजीज के निदेशक डॉक्‍टर एस बुग्गी ने बताया कि 28 साल के ड्राइवर सुधाकर को 29 अगस्त को सांस लेने में परेशानी की शिकायत के बाद यहां संस्थान में भर्ती किया गया था और उसके लार के नमूने जांच के लिए भेज दिये गये थे. वह इलाज के लिए देर से संस्थान में आया था. रविवार को उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी. उस पर इलाज का कोई प्रभाव नजर नहीं आ रहा था और उसकी सोमवार सुबह मौत हो गयी. उत्तराखंड के स्वाइन फ्लू के नोडल अधिकारी पंकज जैन ने बताया कि देहरादून में मसूरी में 35 वर्षीय महिला रुबीना की स्वाइन फ्लू से मौत हो गयी. वह पिछले पांच दिन से स्वाइन फ्लू के लक्षणों से पीडित थी. उसकी लार का नमूना जांच के लिए भेजा गया है.
महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित
केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार रविवार तक 128 नए मामलों की पुष्टि हुई थी और इसके साथ ही इस तरह के पुष्ट मामलों की कुल संख्या 3881 हो गई थी तथा देश के विभिन्न प्रयोगशालाओं में 21777 नमूनों की जांच हो चुकी थी, जिनमें 3753 मामलों की पुष्टि हो चुकी थी. स्वाइन फ्लू से देश में अब तक सर्वाधिक मौत महाराष्ट्र में हुई है जहां इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 53 हो चुकी है जबकि कर्नाटक में 24, दिल्ली में तीन, तमिलनाडु में तीन, केरल में तीन, उत्तराखंड में दो और गुजरात में आठ लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है.
लोगों को भयभीत होने की जरूरत नहीं
स्वाइन फ्लू के सर्वाधिक मामले रविवार तक महाराष्ट्र में आए हैं जहां पर 1591 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. दूसरा नंबर दिल्ली का है जहां 643, कर्नाटक में 430, तमिलनाडु में 643, मध्य प्रदेश में 203, केरल में 183 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. इसके अलावा हरियाणा में 71, पंजाब में 21, चंडीगढ़ में 10, गोवा में 27, पश्चिम बंगाल में 60, उत्तराखंड में 10, हिमाचल प्रदेश में एक, जम्मू-कश्मीर में 21, गुजरात में 96, मणिपुर में एक, मेघालय में छह, मिजोरम में दो, असम में नौ, झारखंड में एक, राजस्थान में 21, बिहार में एक, उत्तर प्रदेश में 84, छत्तीसगढ़ में आठ, मध्य प्रदेश में पांच और दमन एवं दीव में एक मामले की पुष्टि हो चुकी है. सरकार ने कहा है कि लोगों को भयभीत होने की जरूरत नहीं है और पर्याप्त संख्या में दवा एवं प्रयोगशालाएं उपलब्ध हैं.

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.