ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

22 जुलाई, 2009

सूर्य ग्रहण देखने को भी रोकी गई ट्रेनें


सदी का सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण देखने के लिये यात्रियों ने जहां-तहां छोटे-बड़े स्टेशनों पर ट्रेनों की जंजीर खींच कर रोक दिया। सियालदह से आ रही लालकिला एक्सप्रेस को यात्रियों ने सुबह में बंकाघाट स्टेशन पर ही जबरन दस मिनट तक रोक कर रखा। यात्रियों ने ट्रेन रोककर वहां से सूर्य ग्रहण का नजारा देखा। यात्रियों के इस हरकत पर ट्रेन ड्राइवर ने व गार्ड ने भी विरोध नहीं जताया। उनलोगों ने भी सूर्य ग्रहण का नजारा लिया।

इसी तरह रांची व धनबाद से आने वाली हटिया एक्सप्रेस तथा गंगा दामोदर एक्सप्रेस को तारेगना व नदौल स्टेशन पर रोककर सूर्यग्रहण का नजारा यात्रियों ने लिया। पटना जंक्शन से खुलने वाली गया सवारी गाड़ी को भी बीच में ही रोककर लोगों ने सूर्य ग्रहण देखा। इससे भी अलग सूर्य ग्रहण देखने की हड़बड़ी में एक रेल अधिकारी ने दानापुर साहेबगंज इंटरसिटी को रोककर राजधानी एक्सप्रेस को पहले पटना जंक्शन लाने का आदेश दिया। ताकि उन्हें सूर्यग्रहण देखने में कोई परेशानी नहीं हो। राजधानी के यात्री जंक्शन पहुंचकर सूर्यग्रहण को देख सके। यात्रियों ने भी सचिवालय हाल्ट के पास ही सूर्य ग्रहण का नजारा लिया। हालांकि बारिश ने उनके उत्साह को ठंडा कर दिया था।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.